अब 10 से कम यात्री होने पर नहीं चलेंगी एचआरटीसी बसें

HNN/ ऊना

यात्रियों की कमी बसों के संचालन पर भारी पड़ रही है। प्रदेश में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की बहाली के हफ्ते बाद भी यात्रियों में उछाल न के बराबर है। रूटों पर बसें दौड़ाना बड़े घाटे का सबब बना है। कमाई तो दूर किराये से ईंधन और अन्य खर्च भी नहीं निकल पा रहे हैं। घाटे की इस मार को लेकर मुखर निजी आपरेटर तो अपनी बसें पहले ही खड़ी कर चुके हैं।

लेकिन अब एचआरटीसी ने भी बसों को खड़ा करना शुरू कर दिया है। बता दें कि जिले में एचआरटीसी सोमवार से 10 से कम यात्रियों वाले रूटों पर बसें नहीं दौड़ाएगा। सवारियां न मिलने से एचआरटीसी का कोष घाटे में जा रहा था। इसके चलते निगम के उच्च पदाधिकारियों को मजबूरन फैसला लेना पड़ा। गौरतलब है कि जिले में कुल 130 रूट हैं।

इनमें से एचआरटीसी ऊना ने पहली जून से 38 रूट चलाए थे। सवारियों के न मिलने से उनमें से भी कई बसों को नहीं चलाया गया। जानकारी के अनुसार शनिवार को सिर्फ 25 रूटों पर बसों को चलाया गया था। रविवार को मात्र 8 रूटों पर बसें चलाई गईं। सोमवार से एचआरटीसी द्वारा 10 से कम यात्रियों वाले रूटों पर बसें चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।