अब 50 नहीं बल्कि 35-35 फीसदी पाठ्यक्रम के आधार पर होंगी परीक्षाएं

HNN / धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश में अब बोर्ड 50 नहीं बल्कि 35-35 फीसदी पाठ्यक्रम के आधार पर परीक्षाओं का आयोजन करेगा। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत दो टर्म में होने वाली परीक्षाओं को 35 फीसदी पाठ्यक्रम के आधार पर करवाया जाएगा। वहीं, अत्याधिक परीक्षा शुल्क को भी शिक्षा बोर्ड ने सौ रुपए प्रति कक्षा कम कर दिया है। फर्स्ट टर्म परीक्षाएं नवंबर में ही होंगी जबकि सेकेंड टर्म परीक्षाएं मार्च की बजाय अब अप्रैल में होंगी।

फर्स्ट टर्म का आयोजन बोर्ड द्वारा निर्धारित परीक्षा केंद्रों में स्कूलों में कार्यरत स्टाफ द्वारा करवाया जाएगा। इसके लिए बोर्ड द्वारा प्रश्न पत्र/उत्तरपुस्तिकाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। फर्स्ट टर्म व दूसरे टर्म की प्रैक्टिकल परीक्षा का आयोजन सभी स्कूलों द्वारा अपने स्तर पर करवाया जाएगा। परीक्षा समाप्ति के बाद सभी स्कूल बोर्ड की ओर से चिह्नित किए गए ड्रॉपिंग केंद्रों पर उत्तर पुस्तिकाओं को छोड़ेंगे।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो