आंगनबाड़ी वर्करों की बुनियादी सुविधाओं की ओर ध्यान दे सरकार

HNN / जमात अली, फ़तेहपुर

हिमाचल प्रदेश कर्मचारी महासंघ ने उपमंडलीय अधिकारी नागरिक फ़तेहपुर के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री व देश के प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौपा है। जिसमे वर्करों को रही समस्याओं व बुनियादी सुविधाओं बारे अवगत करवाया गया। उन्होंने उसमे बताया है कि सरकार की महत्वकांशी योजनाएं मतदाता सूची बनाना ,प्लस पोलियो की बूंदे पिलाना,जीवन मृत्यु का ब्यौरा रखना, मतदाता के नए वोट व मृत्यु के बाद मतदाता सूची से नाम कटवाने व इसके साथ साथ आंगनवाड़ी केंद्र को भी नियमिय रूप से संचालित करना , बच्चों की प्राम्भिक शिक्षा, पोषण आहार, गर्भवती महिला , किशोरियों को आयरन की दवाई व देखरेख का भी काम रहता है।

इसके इलावा आंगनबाड़ी वर्कर कोरोना काल मे कोरोना वर्कर बनकर फ्रंटलाइन में खड़ी थी। उन्होंने अपनी मांगों के बारे में अवगत करवाते हुआ लिखा कि आंगनबाड़ी वर्कर को सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए और सभी बुनियादी सुविधाए दी जाए। आंगनबाड़ियों कार्यकर्ता को 18000 वेतन व कर्मचारी को 9000 वेतन प्रतिमाह दिया जाए।

नई शिक्षा नीति 2000 के अनुसार आंगनबाड़ी केंद्रों को प्री प्राइमरी स्कूल में बदले व वर्करों को प्री टीचर व सहायकों को असिस्टेंट टीचर का दर्जा देकर पदोन्नित करे । इसके इलावा सरकार की तरफ से सारे भत्ते व अवकाश जो सरकारी कर्मी को दिए जाते है व सब सुविधा आंगनवाड़ी वर्करो को भी मिले। इस अवसर पर फ़तेहपुर ब्लाक की शशि वाला, निशा देवी, संध्या , जीवन लता, कुसुम, अंजू शर्मा व कोशलय देवी मौजूद रही।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो