आज सिरमौर पर मेहरबान रही प्रदेश सरकार, शिलाई में डीएसपी कार्यालय खोलने व कफोटा में…

HNN / शिलाई

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज सिरमौर जिले के पच्छाद और शिलाई विधानसभा क्षेत्रों के अपने एक दिवसीय दौरे के दौरान लगभग 500 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। मुख्यमंत्री ने शिलाई में 175 करोड़ रुपये लागत की 30 विकासात्मक परियोजनाएं जबकि पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के सराहां में 316 करोड़ रुपये लागत की 55 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए।

मुख्यमंत्री ने शिलाई में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कफोटा में उप-मंडलाधिकारी (नागरिक) कार्यालय, शिलाई में विद्युत मंडल, कफोटा में विद्युत उप-मंडल, टिम्बी में लोक निर्माण विभाग का उप-मंडल, सब्जी मंडी व जल शक्ति विभाग की निरीक्षण कुटीर, पनोग, जारवा व चांदनी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की घोषणा की। शिलाई के लिए उन्होंने 1.50 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना की घोषणा भी की।

जय राम ठाकुर ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं बंदली दादा और मिला में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने के अतिरिक्त तीन राजकीय उच्च पाठशालाओं पोहता मनाल, खंडो और शकोली को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला, माध्यमिक पाठशाला गुंडन को राजकीय उच्च पाठशाला और प्राथमिक पाठशाला शालियां को राजकीय माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की। उन्होंने शिलाई में डीएसपी कार्यालय और कफोटा में पुलिस स्टेशन खोलने की घोषणा की।

उन्होंने जारवा में प्राथमिक पाठशाला खोलने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि शिलाई क्षेत्र द्वारा लगभग पांच दशकों तक कांग्रेस पार्टी का समर्थन करनेे के बावजूद विकास के मामले में उपेक्षित रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के अपने पिछले दौरे के दौरान उन्होंने क्षेत्र के लिए सिविल जज कोर्ट, आईटीआई, पुलिस स्टेशन, जल शक्ति उप-मंडल आदि अनेकों विकासात्मक परियोजनाओं की घोषणा की है।

उन्होंने कहा कि आज भी उन्होंने सिरमौर जिले के पच्छाद और शिलाई विधानसभा क्षेत्रों में 500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण तथा शिलान्यास करके नया कीर्तिमान स्थापित किया है। जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल के दौरान समाज के हर वर्ग और राज्य के हर क्षेत्र का समान और संतुलित विकास सुनिश्चित किया गया है। जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने राज्य में पदभार ग्रहण करते ही वृद्धावस्था पेंशन का लाभ लेने के लिए वरिष्ठ नागरिकों की आयु सीमा को बिना आय सीमा के 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया है।

मुख्यमंत्री ने शिलाई में 4.11 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित आईटीआई भवन, 1.83 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित जरवा से जनेली से किनू कुल्हाड़ सड़क, 5.29 करोड़ रुपये लागत की गवाली पशमी से मनाल सड़क, 4.77 करोड़ रुपये लागत की गवाली पशमी से बाली कोटि चमरा मोहराड़ सड़क, 4.64 करोड़ रुपये लागत की शर्ली मानपुर से कुमली सड़क, तातियाना गांव समूह की बस्तियों के लिए 92 लाख रुपये लागत की उठाऊ पेयजल योजना, कमराउ तहसील के अपर माशू में 1.22 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना और कुन्ना गांव के लिए 68 लाख रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना कुन्ना सदयार के लोकार्पण किए।

मुख्यमंत्री ने 151.88 करोड़ रुपये लागत की 22 विकासात्मक परियोजनाओं के शिलान्यास किए। इस अवसर पर हाटी समिति के सदस्यों, प्रधानों, एसएमसी यूनियन शिलाई, क्षेत्र की आसपास की 23 पंचायतों के प्रतिनिधियों, व्यापार मंडल शिलाई, विभिन्न सांस्कृतिक और सामाजिक संगठनों ने मुख्यमंत्री को सम्मानित किया। ऊर्जा मंत्री सुखराम चैधरी ने मुख्यमंत्री से शिलाई और कफोटा में विद्युत मंडल खोलने का आग्रह किया। उन्होंने सिरमौर जिले के लोगों की विकासात्मक आकांक्षाओं के प्रति हमेशा संवेदनशील रहने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

सांसद एवं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप ने जिला सिरमौर के एक दिवसीय दौरे के दौरान लगभग 500 करोड़ रुपये की लागत की विकासात्मक परियोजनाओं का लोकार्पण करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर ने शिलाई विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए अक्टूबर, 2018 के शिलाई दौरे के दौरान क्षेत्र के लिए अनेक विकासात्मक परियोजनाओं की घोषणा करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो