आदमखोर तेंदुए को पकड़ने के लिए देहरादून से शिमला पहुंची टीम, मास्टर प्लान को लेकर…

HNN / शिमला

राजधानी शिमला के डाउनडेल इलाके में हुई घटना के बाद से खूंखार आदमखोर तेंदुआ अभी भी रिहायशी इलाकों में घूमता नजर आ रहा है। इतना ही नहीं वन विभाग की टीम द्वारा तेंदुए को पकड़ने के लिए कई तरीके भी अपनाए गए, लेकिन तेंदुआ वन विभाग की टीम की पकड़ में नही आया। विभाग ने इस आदमखोर तेंदुए को पकड़ने के लिए जगह-जगह पिंजरे लगाए उनमें मांस रखा लेकिन तेंदुआ पिंजरे के गेट तक आता और वहीं से वापस लौट जाता।

आखिरकार खूंखार तेंदुए को पकड़ने के लिए देहरादून से टीम शिमला पहुंच गई है। शिमला पहुंचते ही टीम मास्टर प्लान तैयार करने में जुट गई है। वही टीम ने उन सभी जगहों का निरीक्षण किया जहां तेंदुआ अक्सर लोगों को दिखाई देता है। वही मास्टर प्लान में अब वन विभाग की टीम ट्रेंकुलाइजर गन लेकर फील्ड में उतरने की तैयारी पर है जिसमें तेंदुए को गन से बेहोश किया जाएगा और उसे जिंदा पकड़ने का प्रयास किया जाएगा।

उधर, वन विभाग अब एक और अभियान में जुट गया है, जिसमे इलाके में कितने तेंदुए घूम रहे हैं और बच्चो को कौन सा तेंदुआ उठा रहा है इस सभी को लेकर मास्टर प्लान तैयार किया जा रहा है। जिस तरह से इस बार मास्टर प्लान तैयार किया गया है उसको देखकर लगता है कि इस बार आदमखोर तेंदुआ वन विभाग की पकड़ से बाहर नहीं होगा।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो