आर्थिक मंदी, महंगाई व बेरोजगारी जैसे मुद्दों को लेकर सिरमौर कांग्रेस कमेटी ने सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

HNN News/ नाहन

आर्थिक मंदी, महंगाई व बेरोजगारी जैसे कई मुद्दों को लेकर सिरमौर कांग्रेस कमेटी ने नाहन में प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर किए गए प्रदर्शन के दौरान वक्ताओं ने सरकार की जमकर घेराबंदी की। इससे पूर्व कांग्रेस भवन नाहन से शुरू हुई रैली शहर के विभिन्न स्थानों से होते हुए डीसी कार्यालय परिसर पहुंची।

इस मौके पर कांग्रेस के वक्ताओं ने बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लिया। जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय सोलंकी ने कहा कि देश व प्रदेश में महंगाई चरम सीमा पर है। देश आर्थिक मंदी की मार झेल रहा है। प्रदेश सरकार बाहरी राज्यों के युवाओं को रोजगार बांट रही है।

जबकि, प्रदेश के बेरोजगार दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। प्रदेश सरकार इन्वेस्टर मीट के नाम पर प्रदेश की खूबसूरत वादियों को बेचने का काम कर रही है। इन्वेस्टर मीट में खर्च किए जा रहे करोड़ों रुपये का बोझ प्रदेश पर पड़ रहा है। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि कितने बेरोजगारों को इस मीट से रोजगार मिलेगा।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गंगूराम मुसाफिर ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकारों का चेहरा सामने आ गया है। आज प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। प्रदेश के बेरोजगार परेशान हैं। गैस, पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं। किसान आत्महत्याएं करने को मजबूर हो गए हैं।

प्रदेश का विकास ठप पड़ गया है। शिलाई के विधायक हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार ने धारा -118 को कमजोर किया है। केंद्र सरकार ने प्रदेश को 69 एनएच देने की घोषणा की थी। हैरानी की बात है कि अभी तक इनकी नोटिफिकेशन तक नहीं की गई है। प्रदेश में नेशनल हाईवे बनाना तो दूर सड़कें भी गड्ढों में तबदील हो चुकी हैं।

मुसाफिर ने कहा कि टूरिज्म के नाम पर सिरमौर के हाथ खाली हैं। प्रदेश सरकार सिर्फ मंडी के विकास को प्राथमिकता दे रही है। विभिन्न सरकारी विभागों में स्टाफ का भारी टोटा है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़कें, रोजगार व स्वास्थ्य सब बेहाल है। कांग्रेस के वक्ताओं ने कहा कि इसको लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी रहेंगे। सरकारी की जन विरोधी नीतियों का कांग्रेस कड़ा विरोध करेगी।