इस दिन तक पूर्ण करें प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना का सर्वेक्षण- के.सी.चमन

HNN News/ सोलन

उपायुक्त सोलन के.सी.चमन ने निर्देश दिए हैं कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के द्वितीय चरण के अन्तर्गत चयनित गांवो में ‘बेस लाईन सर्वे’ 31 दिसम्बर, 2019 तक पूर्ण किया जाए ताकि इन गांवो के लिए ग्राम विकास योजना को तैयार कर ऑनलाइन किया जा सके।

उपायुक्त आज यहां प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना चरण-2 की अभिसरण समिति की जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

के.सी.चमन ने कहा कि आदर्श ग्राम योजना के तहत 50 प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाति जनसंख्या वाले चिन्हित गांवो का एकीकृत विकास सुनिश्चित करना उद्देश्य है।

योजना के तहत चिन्हित गांवो में पर्याप्त अधोसंरचना का विकास तथा सामाजिक-आर्थिक संकेतकों में सुधार सुनिश्चित बनाना है ताकि लोगों को मूलभूत सुविधाएं मिलें, असमानताएं कम हों और जीवन-यापन का स्तर मानकों के अनुरूप हो सके।

उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए चिन्हित गांवो में पेयजल व स्वच्छता, शिक्षा, स्वास्थ्य और पोषण, सामाजिक सुरक्षा, ग्रामीण सड़क और आवास, विद्युत एवं स्वच्छ ईंधन, कृषि क्रियाकलाप, वित्तीय समावेशन, डिजीटलीकरण तथा जीवन यापन और कौशल विकास जैसी बुनियादी आवश्यकताओं पर ध्यान दिया जाएगा।

उपायुक्त ने कहा कि केन्द्र सरकार ने चिन्हित गांवो के लिए 20-20 लाख रुपए का प्रवधान किया है। इन गांवो का चयन वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार किया गया है। के.सी. चमन ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा सोलन जिला में 10 गांव चयनित किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अन्तर्गत धर्मपुर विकास खण्ड से ग्राम पंचायत टकसाल के कामली गांव, कुनिहार विकास खण्ड से ग्राम पंचायत देवरा के गांव मझयाट तथा ग्राम पंचायत ग्याणा के गांव ग्याणा

विकास खण्ड नालागढ़ से ग्राम पंचायत मलपुर के गांव मलकू माजरा, ग्राम पंचायत मलौण के गांव कोहू निचला, ग्राम पंचायत बगलेहर के गांव पल्ली, ग्राम पंचायत मंझौली के गांव मंझौली, ग्राम पंचायत रतवाड़ी के गांव सरोर, ग्राम पंचायत प्लासी कलां के गांव बीर प्लासी तथा ग्राम पंचायत बारियां के गांव सलेहरां का चयन किया गया है।

उन्होंने कहा कि कुनिहार विकास खण्ड से ग्राम पंचायत ग्याणा के गांव ग्याणा को प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के प्रथम चरण में जिला ग्रामीण विकास अभिकरण द्वारा पहले ही आदर्श ग्राम घोषित किया जा चुका है तथा इस सम्बन्ध में उचित स्तर पर सूचना प्रषित कर दी गई है।

के.सी. चमन ने प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के लिए सम्बद्ध विभागों को निर्देश दिए कि योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए पूर्ण समन्वय के साथ काय करें तथा योजना के प्रत्येक स्तर पर इस सम्बन्ध में भारत सरकार के दिशा-निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित बनाएं।

उन्होंने कहा कि इस महत्वाकांक्षी योजना से जिला के चिन्हित गांवो को तभी लाभान्वित किया जा सकता है जब बेस लाईन सर्वे को निर्धारित समय पर मानकों के अनुरूप पूरा किया जाए। उन्होंने सभी अधिकारियोें को निर्देश दिए कि योजना के दिशा-निर्देशों का अनुसरण करें और 31 दिसम्बर, 2019 तक सर्वेक्षण को पूरा करें।