एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर दराट और रॉड से एसएफआई के गुंडों ने किया हमला

एसएफआई के जिला अध्यक्ष को पुलिस द्वारा हथियार के साथ किया गया गिरफ्तार

HNN/ शिमला

राजकीय महाविद्यालय चौड़ा मैदान कोटशेरा में एक बार फिर एसएफआई के गुंडों ने अपना रक्तरंजित इतिहास दोहराया है। महाविद्यालय में एसएफआई के गुंडों ने एबीवीपी के कार्यकर्ताओं पर दराट, रॉड एवं धारदार हथियारों से वार किया। एसएफआई के गुंडों ने छिपकर कार्यकताओं पर दराट, खुंखरी एवं तेजधार हथियारों से हमला किया। शिमला महानगर मंत्री रीतिक पालसरा ने जानकारी देते हुए कहा कि एसएफआई के गुंडे लगातार पिछले कुछ दिनों से शिमला के सभी महाविद्यालयों में माहौल को खराब करने की कोशिश कर रहे थे।

एबीवीपी की छात्रा कार्यकताओं पर भद्दे कमेंट करना एवं उनके चरित्र पर लगातार कमेंट किए जा रहे थे। जब एबीवीपी के कार्यकर्ताओं द्वारा इसका विरोध किया गया तो उन्होंने अपना रक्तरंजित इतिहास दोहराया। एसएफआई द्वारा किए गए इस हमले में एबीवीपी के दर्जनों कार्यकर्ताओं को सिर, बाजू एवं टांगों में चोटें आई हैं। रीतिक ने कहा कि एसएफआई के गुंडे तेजधार हथियारों से कैंपस में आए और कार्यकर्ताओं पर कायराना हमला किया, चोटें इतनी गंभीर थी कि कार्यकर्ताओं को आईजीएमसी रैफर करना पड़ा।

बाहर के उन लोगों को कैंपस में लाया जिनकी न तो कालेज में एडमिशन है और पहले भी जिन पर केस चले हैं। कोटशेरा महाविद्यालय SFI इकाई के कार्यकर्ता सुशील, दीपांशु, अनिल, साहिल, पवन, रंजीत, कमल और योगेश व संजौली इकाई के साहिल, रोहित नेगी, गौरव शर्मा, शुभम, अजय और इसके अतिरिक्त एसएफआई का जिला अध्यक्ष अनिल, नीतीश इन लोगों द्वारा अभाविप के कार्यकर्ताओं के ऊपर हमला किया। इसमें इनके जिला अध्यक्ष अनिल को हथियार के साथ पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो