किसानों-बागवानों की आर्थिक समृद्वि सरकार की उच्च प्राथमिकताः नैहरिया

HNN News/ धर्मशाला

वर्ष-2022 तक किसानों-बागवानों की आय को दोगुना कर उनकी आर्थिकी को सुदृढ़ बनाना सरकार की उच्च प्राथमिकता है। यह जानकारी विधायक विशाल नैहरिया ने आज राजकीय उच्च पाठशाला झियोल में कृषि विभाग द्वारा आयोजित किसान मेले में बतौर मुख्यातिथि शिकरत करते हुए दी।

उन्होंने कहा कि देश के समग्र विकास में कृषि का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि कृषि के विकास के लिए आरंभ की गई योजनाओं से जहां देश में खाद्यानों का उत्पादन बढ़ा है, वहीं किसानों की आर्थिकी मजबूत हुई है।

नैहरिया ने कहा कि फसल विविधिकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई फसल विविधिकरण प्रोत्साहन योजना ‘‘जाईका’’ किसानों की आय तथा कृषि गतिविधियों में बढ़ावा देने में कारगर साबित हुई है। उन्होंने कहा कि केन्द्र तथा प्रदेश सरकार द्वारा किसानों-बागवानों के कल्याण के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं शुरू की गई हैं तथा इन योजनाओं का लाभ पात्र लोगों तक पहुंचाना सरकार का ध्येय है।

उन्होंने कृषि तथा बागवानी अधिकारियोें की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके द्वारा समय-समय पर उपलब्ध करवाई जा रही जानकारियों से सभी को लाभ पहुंचा है। उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों से समय-समय पर किसानों के खेतों का भ्रमण कर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं व आधुनिक कृषि तकनीकें पहुंचाने को कहा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को काफी लाभ पहुंचा है। उन्होंने कीटनाशकों तथा उर्वरकों के अत्याधिक इस्तेमाल पर चिंता व्यक्त करते हुए किसानों से शून्य लागत प्राकृतिक खेती को अपनाने पर बल दिया।

नैहरिया ने इस अवसर पर स्वयं सहायता समूहों तथा कृषि व बागवानी विभाग द्वारा लगाई गई प्रर्दशनियों का भी अवलोकन किया। इस मौके पर प्रगतिशील किसानों को प्रशस्ति पत्र व प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया गया।

इससे पहले, ज़िला परियोजना प्रबन्धक राजेश सूद ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर जानकारी दी।

ये रहे मौजूद
इस अवसर पर ज़िला बागवानी उपनिदेशक दौलत राम वर्मा, खंड कृषि परियोजना प्रबन्धक शशि कांता, भू-संरक्षण अधिकारी राहुल कटोच सहित कृषि व बागवानी विभाग के वैज्ञानिक व अधिकारी तथा अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।