कोरोना काल के कारण पिछली बार नही हो पाया था मेले का आयोजन, इस बार उमड़ेगा आस्था का सैलाब

HNN / सराहां

पच्छाद क्षेत्र के साथ-साथ सिरमौर व साथ लगते हरियाणा क्षेत्र के हजारों लोगों की आस्था का प्रतीक माना जाने वाला शिवालिक पहाड़ी में स्थित रमणीक स्थल भुरेश्वर महादेव मंदिर में इस बार ग्यास पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जायेगा, जिसकी तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बार यहां मेले का आयोजन भी हो रहा है जो पिछले साल कोरोना महामारी के चलते नही हो पाया था। बता दें कि पालनहर्ता भुरेश्वर महादेव मंदिर में ग्यास पर्व की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

हजारों लोगों की आस्था के प्रतीक इस देवस्थल में ग्यास पर्व पर बड़ी धूम रहती है। इस दिन यहां आस्था का सैलाब उमड़ पड़ता है। क्वागधार की शिवालिक पर्वत माला के शिखर पर स्थित यह ऐतिहासिक देवस्थल कई मायनों में अपनी अलग पहचान रखता है। सबसे दिलचस्प यह है कि यहां स्वयंभू शिवलिंग विद्यमान है।

यही नहीं यहां से शिव पार्वती का महाभारत युद्ध को देखना अपने आप में इस धरती को अति पवित्र बनाता है। भुरेश्वर महादेव से सच्चे मन से मांगी गई मुराद हमेशा पूर्ण होती है। वैसे तो पूरा साल यहां श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहता है लेकिन यहां ग्यास पर्व का अपना अलग ही महत्व है। अपने आराध्य देव को श्रद्धालु गाय का दूध अर्पित करते हैं औरअपना नया अनाज चढ़ाते है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो