कोविड के आर नॉट काउंट को लेकर ऋषिकेश एम्स ने प्रदेशवासियों को चेताया

HNN/ शिमला

हिमाचल प्रदेश में संक्रमण के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। पहले जहां संक्रमण के मामलों में गिरावट दर्ज की गई थी तो वहीं दूसरी तरफ एक बार फिर से लोगों की लापरवाही के चलते कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी होना शुरू हो गई है। ऐसे में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान (एम्स) ऋषिकेश ने प्रदेशवासियों को कोविड के आर नॉट काउंट को लेकर चेताया है।

एम्स के निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने नॉट काउंट को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि लोग अभी भी कोरोना संक्रमण को हल्के में ले रहे हैं अगर ऐसा ही चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब प्रदेश में तीसरी लहर प्रवेश कर जाएगी जिससे एक बड़ी तबाही मच सकती है।

उन्होंने चेताया कि नागरिकों ने सरकार की ओर से कोविड से बचाव को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन नहीं किया तो देश कभी को कोरोना वायरस से मुक्त नहीं हो सकता। आर-नाट काउंट यह दर्शाता है कि एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति कितने व्यक्तियों को कोरोना फैला रहा है और इससे यह भी पता चलता है, कि कोरोना वायरस समाज में कितनी तेजी से फैल रहे हैं।

लिहाजा कोरोना के फैलाव को नियंत्रित रखने एवं इस महामारी का अंत करने के लिए यह संख्या एक से कम होनी चाहिए। बता दें कि भारत के आठ राज्यों में आर नॉट काउंट एक से ऊपर चला गया है। मिशीगन यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के अनुसार मिजोरम में आर नॉट काउंट 1.56, मेघालय में 1.27, सिक्किम में 1.26, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 1.17, मणिपुर में 1.08, केरल में 1.2 और दिल्ली में 1.01 है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो