क्रिसमस पर निराश हुए सैलानियों और पर्यटन कारोबारियों को ताजा बर्फबारी से मिली बड़ी राहत।

न्यू ईयर से पहले हिमाचल में मौसम ने करवट बदली है। बुधवार रात से वीरवार दोपहर तक पर्यटन नगरी मनाली और कल्पा में बर्फबारी हुई। इस साल क्रिसमस पर सैलानी और पर्यटन कारोबारी बहुत निराश हो गए थे लेकिन अब उनको ताजा हुई बर्फबारी से बहुत राहत मिली है । कुल्लू और किन्नौर जिले की ऊंची चोटियां बर्फ से लकदक हो गई हैं। शिमला शहर का पारा माइनस में पहुंच गया है। पूरा प्रदेश कड़ाके की ठंड की चपेट में है।

मौसम विभाग शिमला के अनुसार प्रदेश के कई क्षेत्रों में 30 दिसंबर से लेकर 2 जनवरी तक बारिश और बर्फबारी होने की पूर्ण संभावना है । नए साल पर शिमला कुफरी नारकंडा मनाली और भी कई शहरों में बर्फबारी होने के पूर्ण आसार हैं और मैदानी इलाकों में शीत लहर चलेगी ।

रोहतांग दर्रा में 30 सेंटीमीटर, मढ़ी में 20, कोठी व सोलंगनाला में 10 और मनाली-कल्पा में पांच सेंटीमीटर बर्फबारी रिकॉर्ड की गई। मनाली में बर्फबारी के दौरान सैलानियों ने खूब मस्ती की। किन्नौर के कल्पा समेत अधिकांश ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दो से पांच सेंटीमीटर तक ताजा बर्फबारी रिकॉर्ड हुई। निचले क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। रिकांगपिओ से काजा की तरफ आकपा के पास सुबह सात बजे से 11 बजे तक करीब तीन घंटे बर्फबारी और फिसलन के चलते निगम की बसों की आवाजाही प्रभावित रही। 11 बजे के बाद यातायात सुचारु हुआ। जिला की एक दर्जन से अधिक ग्रामीण सड़कें बंद रही।

वीरवार को राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में मौसम मिलाजुला बना रहा। शिमला में हल्के बादलों के बीच धूप खिली। वीरवार को हिमाचल में अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम रिकार्ड हुआ।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *