खौलते पानी में गिरा साढे 3 साल का मासूम, नाहन पहुंचने से पहले हुई मौत

मामा की शादी में कठवार आया था मासूम, ददाहू अस्पताल की एंबुलेंस थी बीमार 2 घंटे बाद मोटरसाइकिल पर पहुंचाया अस्पताल, इलाज में देरी बनी मौत का कारण

HNN News श्री रेणुका जी/ नाहन

श्री रेणुका जी थाना के अंतर्गत मां बाप के साथ पनार गांव से कठवार मामा की शादी में आए साडे 3 साल के मासूम समर पुत्र देवेंद्र सिंह की खौलते पानी में गिर जाने के कारण मौत हो गई है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री रेणुका जी ददाहू से करीब 10 किलोमीटर दूर बेड़ा मटियान पनार गांव निवासी देवेंद्र अपनी पत्नी व बेटे के साथ अपने साले की शादी में कठवार गांव आए हुए थे।

3:30 साल का मासूम अपने दोस्तों के साथ शादी में खेल रहा था। खेलते खेलते अचानक छोटा बच्चा भट्टी पर रखे खोलते पानी के कड़ाहे में जा गिरा। यह घटना दिन के करीब 11:30 बजे की है।

खोलते पानी में गिरते ही उसे तुरंत बाहर निकाला गया। जिसके बाद वहां अफरा-तफरी का माहौल मच गया। परिजनों ने ददाहू अस्पताल में एंबुलेंस के लिए फोन किया। मृतक बच्चे के पिता देवेंद्र ने बताया कि अस्पताल वालों ने कहा कि एंबुलेंस खराब है।

बच्चे की मौत और जिंदगी के बीच चल रही जंग से व्याकुल माता पिता उसे एक मोटरसाइकिल पर अस्पताल लेकर करीब 2 घंटे बाद पहुंचे। ददाहू अस्पताल पहुंचने तक मासूम समर बोल चल रहा था। अस्पताल से बच्चे की हालत गंभीर देखते हुए उसे नाहन मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया।

हैरानी की बात तो यह है कि नाहन मेडिकल कॉलेज भी मासूम को निजी वाहन से लाना पड़ा। मगर इससे पहले कि वह मेडिकल कॉलेज तक पहुंच पाता समर दम तोड़ चुका था। परिजनों का कहना है कि यदि मासूम को समय पर इलाज मिल जाता और एंबुलेंस सेवा उपलब्ध होती। तो संभवत उनका एकमात्र घर का चिराग बुझने से बचा जाता।

परिजनों ने किसी के भी खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं की है। बल्कि रोते बिलखते नाहन मेडिकल कॉलेज से दोपहर बाद अपने घर निकल गए।

बरहाल इस दर्दनाक हादसे में गई मासूम की जान ने एक बार फिर जिला सिरमौर में स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोल कर रख दी है।