गरीबी के आधार पर दिया जाए आरक्षण, चाहे हो स्वर्ण या हो एससी/एसटी- रूमित

HNN/ तपेंद्र ठाकुर पांवटा

स्वर्ण आयोग की मांग को लेकर बीती रात स्वर्ण समाज द्वारा पैदल शव यात्रा नाहन से पांवटा साहिब पहुंची। यह शव यात्रा जैसे ही पांवटा साहिब पहुँची तो यहां के स्थानीय स्वर्ण लोगो ने उनका फूल-मालाओं से स्वागत किया। इस पैदल शव यात्रा में हिमाचल प्रदेश स्वर्ण समाज मोर्चा के अध्यक्ष रूमित ठाकुर और प्रदेश उपाध्यक्ष मदन ठाकुर एवं गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। प्रदेश के अध्यक्ष रूमित ठाकुर ने कहा कि इस एससी एसटी एक्ट को आरक्षण देने पर हमारे समाज का शोषण किया जा रहा है।

इस एससी एसटी एक्ट ने हमारे बच्चो की जिंदगी बर्बाद कर दी है। उन्होंने कहा कि स्वर्ण समाज की पैदल शव यात्रा 25 दिन की रहेगी और इस शव को हरिद्वार गंगा में सौंपा जाएगा। रूमित ठाकुर ने कांग्रेस और भाजपा पर सवाल दागते हुए कहा कि इनकी सरकारों ने स्वर्ण समाज का बहुत शोषण किया है। जयराम सरकार ने स्वर्ण आयोग का गठन करने का 4 बार वायदा किया परन्तु ऐसा कुछ हुआ नहीं।

बताया कि हम तब तक चुप नही बैठेंगे जब तक स्वर्ण समाज आयोग की मांग को पूरा नही किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जाति के आधार पर आरक्षण क्यों? स्वर्ण के बच्चो के साथ भेदभाव क्यों? क्या वो इस देश के नागरिक नहीं। उन्होंने कहा कि सवर्ण के बच्चो के साथ शोषण किया जा रहा है। जिन स्वर्ण लोगों ने देश के लिए बलिदान दिए और दान में जमीन दिए है उन्ही लोगों के साथ आज शोषण किया जा रहा है।

इसको जाति के आधार पर बांटा जा रहा है। सभी के लिए एक समान कानून हो और गरीबी के आधार पर आरक्षण दिया जाए। चाहे वो जाति स्वर्ण की हो या एससी एसटी की, सभी को एक समान से देखा जाए। रूमित ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इस एक्ट को खत्म नहीं किया गया तो आंदोलन इससे भी आक्रोश होगा।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो