चंम्बा में भूस्खलन से दो अलग-अलग घटनाओं में 3 की मौत

पैदल रास्ता पार करते हुए 2 जिंदा हुए मलबे में दफन एक महिला घायल, दूसरी घटना में सराय में सो रहे व्यक्ति पर गिर गया कई टन मलबा हुई मौत

HNN News चंम्बा

हिमाचल प्रदेश में लगातार हो रही बारिश हुआ भारी बर्फबारी के चलते आम जनजीवन को अस्त-व्यस्त हुआ है तो वहीं भारी बारिश के चलते भूस्खलन की घटनाएं भी बढ़ गई हैं। आज मंगलवार को जिला चंबा में दो जगह हुई अलग-अलग घटनाओं में चार व्यक्तियों के मारे जाने की जानकारी मिली है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पहली घटना गागला की है जहां पुलिस को फोन पर सूचना मिली की कुछ लोग पैदल रास्ता पार कर रहे थे कि अचानक हुए भूस्खलन की चपेट में आ गए हैं। मामला चंम्बा थाना के अंतर्गत था लिहाजा जानकारी मिलते ही पुलिस का एक दल मौके पर पहुंचा।

मौके पर पुलिस को जानकारी मिली कि 3 लोग पैदल रास्ता पार कर रहे थे कि अचानक मलबे की चपेट में आ गए। जिसके बाद पुलिस ने खोजबीन भी शुरू कर दी। भूस्खलन की चपेट में आने वालों की शिनाख्त तिलक राज निवासी पनेला भरियां, राधा पत्नी काकू निवासी तनुई जिला चंम्बा तथा घायलों में काजल पत्नी तिलक राज शामिल है।

इस हादसे में तिलकराज व राधा की मौत हो गई है जबकि काजल पत्नी तिलक राज को घायल अवस्था में चंम्बा के मेडिकल कॉलेज लाया गया।

दूसरी घटना त्रिवेणी घाट होली की है। मिली जानकारी के अनुसार यहां भी पुलिस को यह जानकारी मिली कि भूस्लखन के चलते कमरे में सो रहा व्यक्ति मलबे में दब गया है। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो लोगों की सहायता से मलबे में दबे हुए व्यक्ति को बाहर निकाला गया। बाहर निकाले गए व्यक्ति की पहचान राकेश कुमार पुत्र तुलसीराम उम्र 32 वर्ष निवासी मंडी सरकाघाट के रूप में हुई है।

मलवे में से दवे व्यक्ति को बाहर निकालने के बाद जब उसकी जांच की गई तो वह मर चुका था। मिली जानकारी के अनुसार राजेश एक साधु के साथ यहां आया था। पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम करवा कर लाश को परिजनों को सौंप दिया है। यह पोस्टमार्टम भरमार अस्पताल में करवाया गया जहां से मृतक के परिजनों को फोन के द्वारा सूचना भी दे दी गई।

Test