चाईनीज़ राखियों को छोड़ स्वदेशी राखियां खरीद रही बहनें

HNN/ मंडी

रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजारों में रंग-बिरंगी राखियां बिकनी शुरू हो गई हैं। बहनें अपने भाईयों की कलाई पर बांधने के लिए राखियों की बाजार में खरीददारी करने में जुट गई हैं। बाजार में एक से एक सुंदर राखियां उपलब्ध हैं। तीन अगस्त को रक्षाबंधन के त्योहार के लिए सरकार द्वारा गाइडलाइंस जारी की गई हैं और उनका पालन करते हुए ही ये त्योहार मनाए जाएंगे।

बता दें कि इस बार मंडी जिला में कुछ संस्थाओं द्वारा वैदिक राखियां तैयार की गई है ,जो कि बाजारों में हाथों-हाथ बिक रही है। हालांकि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण बाजारों में कम ही भीड़ देखी जा रही है, परंतु फिर भी बहनें अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधने के लिए बाजारों में खरीददारी करती हुई नजर आ रही हैं।

मंडी बाजार में भी अधिकतर बहनेे स्वदेशी राखियां ही खरीद रही हैं। पूरे देश में चीन की वस्तुओं का बहिष्कार किया जा रहा है, वहीं दुकानदार भी लगातार चीन के समान का विरोध कर रहे हैं।