चुनाव प्रचार थमा अब वापस लौटना होगा दिग्गजों को

सोशल मीडिया के जरिए प्रत्याशी अपने फेवर में वोट डालने की कर रहे हैं अपील, जीत का सेहरा ठाकुर महेंद्र सिंह के सर, हारे तो जाएगी क्षेत्र के खास की कुर्सी

HNN News पच्छाद

शनिवार की शाम 5:00 बजे के बाद चुनाव प्रचार पूरी तरह से प्रतिबंधित हो जाएगा। इलेक्शन कमिशन की गाइडलाइन के अनुसार प्रचार में जूते कई दिग्गजों को अपने अपने गृह क्षेत्र में वापसी भी करनी होगी।

अब भले ही चुनाव प्रचार थम गया हो मगर साइलेंट प्रचार पूरी जोर शोर से शुरू हो जाएगा। यही नहीं कुछ प्रचार की पहली पोस्ट में भी ऐसी तैयार कर ली गई है जिन्हें मतदान के दिन तक जोर शोर से वायरल किया जाएगा।

बता दें कि कांग्रेस व भाजपा के प्रत्याशियों की जीत को सुनिश्चित करने के लिए दोनों ही प्रमुख पार्टियों के कई दिग्गज नेता इन दिनों पच्छाद में डेरा जमाए हुए हैं। जिनमें भाजपा की ओर से ठाकुर महेंद्र सिंह सुरेश भारद्वाज राजीव सैजल वीरेंद्र कवंर, नरेंद्र ब्रागटा, खाद्य पूर्ति विपणन बोर्ड के उपाध्यक्ष बलदेव तोमर, जिला भाजपा अध्यक्ष विनय गुप्ता सहित कई बड़े पदाधिकारी मोर्चा संभाले हुए थे।

तो वही कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर, हर्षवर्धन चौहान, रामलाल ठाकुर, विक्रमादित्य, विनय कुमार, करनेस जंग, पूर्व विधायक कंवर अजय बहादुर, जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजय सोलंकी, आदि मोर्चा संभाले हुए थे।

चुनाव प्रचार थमने के बाद तमाम मंत्रियों बोर्ड व निगम के पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में वापसी करनी होगी। वही पोलिंग पार्टियां भी पोलिंग बूथ की ओर रवाना होनी शुरू हो गई है।

प्रशासन, पुलिस प्रशासन ने अपनी अंतिम एक्सरसाइज को अंजाम देते हुए तमाम इंतजाम भी पुख्ता कर लिए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी के द्वारा दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

वहीं चुनाव प्रचार थमने के बाद प्रत्याशियों के द्वारा + – का खेल भी शुरू हो गया है। मौका स्थिति त्रिकोणीय मुकाबले में जीत सरकार की होगी या फिर दो की लड़ाई में तीसरे को फायदा पहुंचेगा। जय भी तय है कि यदि भाजपा प्रत्याशी कम मार्जिन से जीतता है या फिर आजाद या कांग्रेस तो इसका ठीकरा भी क्षेत्र के कुछ खास दिग्गजों पर फूटना तय है।