छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी हितेश गांधी की प्रदेश उच्च न्यायालय ने जमानत याचिका की खारिज

HNN / शिमला

छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपी और ऊना के केसी ग्रुप आफ  इंस्टीट्यूट के वाइस चेयरमैन हितेश गांधी की प्रदेश उच्च न्यायालय ने जमानत याचिका खारिज कर दी। 4 जनवरी को हिमाचल में 250 करोड़ के बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले की जांच में जुटी सीबीआई ने पहली बार तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

गिरफ्तार लोगों में शिक्षा विभाग के तत्कालीन अधीक्षक अरविंद राज्टा, सेंट्रल बैंक ऑफ  इंडिया की नवांशहर शाखा के हेड कैशियर एसपी सिंह और ऊना के केसी ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट के वाइस चेयरमैन हितेश गांधी के नाम शामिल हैं। पिछले कुछ समय में सीबीआई ने ऊना के केसी इंस्टीट्यूट पर छापा मारकर भी दस्तावेज सीज किए थे।

वहीं बैंक के हेड कैशियर के लिए कहा जा रहा है कि वह बैंक खातों में मोबाइल नंबर और अन्य जानकारियों को लेकर फर्जीवाड़े में शामिल था। सीबीआई ने जमानत याचिका के विरोध में जो तथ्य पेश किए उससे कोर्ट ने संतोष जताते हुए याचिका खारिज कर दी।