जनसमस्याओं का तार्किक निदान करना जिला शिकायत निवारण समिति का मुख्य उद्देश्य- डॉ. सैजल

HNN News/ सोलन

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा सहकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि जन समस्याओं का तार्किक निदान करना जिला शिकायत निवारण समिति का मुख्य उद्देश्य है। डॉ. सैजल आज यहां जिला शिकायत निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

डॉ. सैजल ने कहा कि यह बैठक विभिन्न विभागों को पूरे जिला में योजना कार्यान्वयन के संबंध में आ रही कमियों को दूर करने का भी एक मंच प्रदान करती है। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बिना किसी पूर्वाग्रह के समस्याओं को सुलझाने की दिशा में कार्य करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अधिकारियों एवं कर्मचारियों के माध्यम से जन-जन की शिकायतों एवं समस्याओं के निवारण के लिए काम करती है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने उपायुक्त सोलन को निर्देश दिए कि आज की बैठक से बिना किसी सूचना के अनुपस्थित रहने वाले अधिकारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि इस बैठक में सभी गैर सरकारी सदस्यों का उपस्थित रहना आवश्यक है। गैर सरकारी सदस्यों को भी इस बैठक के महत्व को समझना होगा।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राज्य सरकार से योजनाओं के लिए धन प्राप्त करने और भूमि की निशानदेही जैसे मामलों में संबंधित अधिकारियों के साथ नियमित संवाद बनाए रखें।

डॉ. सैजल ने निर्देश दिए कि परवाणू के टिपरा गांव में सुचारू जलापूर्ति के लिए पाईपों को शीघ्र बदला जाए। इस कार्य के लिए 8.50 लाख रुपये का प्राक्कलन तैयार किया गया है। उन्होंने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को निर्देश दिए कि जिला में विभिन्न स्थानों पर खुले में खाद्य पदार्थ बेचने वालों के विरूद्ध नियमित कार्रवाई की जाए।

उन्होंने कण्डाघाट की ग्राम पंचायत सिरीनगर में स्थापित सभी सौर ऊर्जा चलित लाईटों का पुनः पूर्ण निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्युत बोर्ड को निर्देश दिए कि जिला में विद्युत आपूर्ति सुचारू रखी जाए। उन्होंने बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ क्षेत्र में दूषित पेयजल के संबंध में अधिकारियों को बैठक कर समाधान के निर्देश दिए।

उन्होंने अर्की उपमण्डल के डूमैहर गांव में बस अड्डे से लेकर डोलग गांव तक सड़क की मुरम्मत के लिए संबंधित विभागों द्वारा संयुक्त निरीक्षण कर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने सोलन शहर में विभिन्न स्थानों पर पानी की लीकेज का निदान करने के लिए नगर परिषद सोलन, सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग तथा हिमुडा को संयुक्त मुआयना कर जिम्मेदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने निर्देश दिए कि चंबाघाट में रेलवे की 80 मीटर भूमि एंबुलेंस मार्ग के लिए उपलब्ध करवाने के लिए उपायुक्त सोलन मामला रेलवे प्रशासन से उठाएंगे।
सोलन के विधायक डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि विभिन्न समस्याओं के समयबद्ध निदान के लिए ऐसी बैठकें नियमित रूप से आयोजित की जानी चाहिएं।

बैठक में राज्य खादी बोर्ड के उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम गुलेरिया, प्रदेश भाजपा सचिव रतन सिंह पाल, वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. राजेश कश्यप, जिला भाजपा अध्यक्ष आशुतोष वैद्य सहित अन्य सदस्यों ने बहुमूल्य परामर्श दिए।

उपायुक्त सोलन केसी चमन ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा विश्वास दिलाया कि जनहित के मामलों को निर्धारित सीमा में सुलझाया जाएगा।
अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी सोलन विवेक चंदेल ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया।

नालागढ़ के पूर्व विधायक केएल ठाकुर, बघाट बैंक के अध्यक्ष पवन गुप्ता, जिला परिषद सदस्य शीला, दुधारू पशु सुधार सभा सोलन के अध्यक्ष रविंद्र परिहार, जिला भाजपा महामंत्री नरेंद्र ठाकुर, आढ़ती संघ के तीर्थानंद भारद्वाज सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति, भाजपा तथा भाजयुमो के वरिष्ठ पदाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोलन डॉ. शिव कुमार शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बद्दी नरेश कुमार शर्मा, जिला के सभी उपमण्डलाधिकारी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।