जयराम ठाकुर मंच से कर सकते हैं ह्रदय राम के वापसी की घोषणा

गुटबाजी के चलते लगातार संघ के हाशिए पर है भाजपा के पूर्व विधायक, बड़े पद से ही होगी वापसी, नहीं तो फिर जाएगी क्षेत्र से कांग्रेस को लीड

HNN News श्री रेणुका जी /हरिपुरधार

संसदीय चुनावों में श्री रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र से डैमेज कंट्रोल हेतु पहुंच रहे जयराम ठाकुर आज मंच से भाजपा के विधायक रहे हृदय राम की संघ में वापसी करवा सकते हैं।

अब यह वापसी इस बात पर निर्भर करती है कि क्या एक एच ए एस अधिकारी का नौकरी छोड़ कर संघ से जुड़कर संगठन की सेवा करने पर बड़े पद के साथ वापसी होगी या नहीं।

क्योंकि विधानसभा चुनावों में मौजूदा कांग्रेसी विधायक विनय कुमार की कूटनीति पूरी तरह से सफल रही थी। जिसके चलते हृदय राम का टिकट कटकर कमजोर प्रत्याशी बलबीर चौहान को मिला था। इस पूरे प्रकरण की जानकारी उस दौरान कई लोगों को लग चुकी थी।

बताना यह भी जरूरी है कि भाजपा मंडल श्री रेणुका जी मैं कुछ पदाधिकारियों की वजह से हृदय राम को अलग-थलग रखने की कोशिश की जाती रही है और अभी भी जारी है। अब यदि हृदय राम के खिलाफ जाने वालों की संग में बात की जाए तो उनका किसी भी चुनाव में अच्छा होम वर्क नहीं रहा है।

संभवत विधानसभा चुनावों में आजाद उम्मीदवार होते हुए भी हृदय राम ने अपने स्वभाव और चरित्र के दम पर 10 हजार के लगभग वोट भी हासिल किए थे। कांग्रेस के गढ़ में इतना बड़ा वोट बैंक होना कोई छोटी बात नहीं मानी जा सकती।

शायद विनय कुमार भी अच्छी तरह से जानते थे कि अगर हृदय राम को पार्टी से टिकट मिलता है तो निश्चित ही वह जीत नहीं पाएंगे। क्योंकि जिला सिरमौर में शिलाई और रेणुका जी क्षेत्र बीजेपी के लिए मजबूत नहीं है। जबकि शिलाई में बलदेव तोमर काफी हद तक स्थिति को संभाल चुके हैं। मगर रेणुका जी विधानसभा क्षेत्र में अभी भी बीजेपी काफी कमजोर नजर आ रही है।

बरहाल उत्तराखंड चुनाव प्रचार के लिए जाते हुए काला आम में हृदय राम को मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद आज यदि मान सम्मान और बड़े पद के आश्वासन के साथ वापसी करवाई जाती है तो निश्चित ही स्थिति बदल भी सकती है। मगर दूसरे गुट को यह बात कितनी हजम होगी यह आज देखना होगा।