जलाई गई बेटी की मौत, बर्दाश्त नहीं कर पाई मां आया हार्ट अटैक

HNN News/देहरादून

16 दिसंबर को हेमवतीनंदन बहुगुणा सेंट्रल गढ़वाल यूनिवर्सिटी के पौड़ी कैंपस में पढ़ने वाली एक छात्रा जब अपने घर लौट रही थी तो एक बदमाश ने उसके साथ बतमीजी करने की कोशिश की और छात्रा के द्वारा विरोध करने पर आरोपी ने उस पर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी । 70 फीसदी तक जली इस छात्रा की हालत बिगड़ने पर 19 दिसंबर को एयर ऐम्बुलेंस से दिल्ली लाया गया था। जहां रविवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

बेटी के मौत की खबर सुनते ही मां को हार्ट अटैक आ गया। मां का अस्पताल में इलाज चल रहा है। छात्रा का अंतिम संस्कार उसके गांव में किया जाएगा। लड़की ही अपने गरीब परिवार का एकमात्र सहारा थी। पिता का निधन हो चुका है। छात्रा की मौत की सूचना जब उसके गांव में पहुंची तो परिवार के साथ-साथ यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स भी शोक में डूब गए।

उत्तराखंड के तमाम राजनीतिक दलों और यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग की है। एडीजी कानून-व्यवस्था अशोक कुमार ने सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को स्कूल-कॉलेजों के बाहर पुलिस सुरक्षा बढ़ाने के लिए कहा है। उधर ऐसी घटनाओं को रोकने में नाकाम रहने पर कांग्रेस ने सत्तारूढ़ बीजेपी सरकार को घेरा है।

उधर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने छात्रा के निधन पर गहरा दुख जताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के उत्पीड़न के मामलों पर सरकार सख्त है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि इस प्रकार की घटनाओं में संलिप्त असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें कठोरतम सजा दिलाई जाए।

बता दें कि आरोपी बंटी टैक्सी चालक है। पिछले कुछ दिनों से वह छात्रा को परेशान कर रहा था और जब उसने इसका विरोध किया तो उसने इस घटना को अंजाम दे दिया। घटना के बाद आरोपी बंटी मौके से फरार हो गया लेकिन बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *