ज्वालामुखी मंदिर से श्रद्धालुओं की रौनक गायब, दुकानदारों के चेहरों पर मायूसी

HNN/ काँगड़ा

शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर में इन दिनों रौनक गायब हो गई है। कोरोना के कारण बॉर्डर पर लगी पाबंदियों का असर अब मंदिरों में भी साफ नजर आ रहा है। शक्तिपीठ में इन दिनों श्रद्धालुओं की आमद बेहद कम हो गई है। शनिवार और रविवार को भी नाममात्र ही श्रद्धालु दर्शनों के लिए यहां पहुंच रहे हैं।

इस कारण शहर के दुकानदार मायूस हैं, क्योंकि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं से ही यहां के दुकानदारों की रोजी-रोटी चलती है। मंदिर के चढ़ावे में भी भारी कमी दर्ज की जा रही है। कोविड प्रोटोकॉल के चलते बॉर्डर पर कोविड टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने या वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र की अनिवार्यता है। इस वजह से अन्य राज्यों से आने वाले लोगों की एंट्री लगभग बंद हो गई है।

इक्का-दुक्का लोग ही यहां पर आने में सफल हो रहे हैं, जिससे दुकानदारों का व्यवसाय प्रभावित हो रहा है। धार्मिक स्थल के दुकानदारों की हालत खराब चल रही है लोगों ने सरकार से प्रवेश द्वारों पर एंट्री में थोड़ी रियायत बरतने की मांग की है ताकि धार्मिक पर्यटन पर मार ना पड़ सके।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो