डॉ. परमार की स्मृति में निहोग में आयोजित कांग्रेस के पौधारोपण कार्यक्रम को विभाग ने रोका

कांग्रेस नेता अजय सोलंकी ने लगाए जयराम सरकार और डॉ. बिंदल पर औच्छे हथकंडे अपनाने के आरोप

HNN/ नाहन

पूरा प्रदेश आज हिमाचल निर्माता डॉ. वाईएस परमार की 115वीं जयंती मना रहा है। इस अवसर पर श्रद्धांजलि और पौधारोपण कार्यक्रम किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में नाहन कांग्रेस मंडल ने नाहन विधानसभा क्षेत्र की चाकली पंचायत के राहौर (निहोग) में पौधोरापण कार्यक्रम आयोजित किया। मगर वन विभाग के अधिकारी ने निर्धारित समय पर कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को पौधारोपण करने सेे रोक दिया। हालांकि उपायुक्त सिरमौर आरके गौतम के हस्तक्षेप के बाद पौधरोपण कार्यक्रम को उसी जगह पूरा किया गया, मगर विभाग के द्वारा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम को एक दम से रोके जाने पर वहां पहुंचे 500 से करीब कांग्रेस पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों खासा रोष देखने को मिला।

उन्होंने प्रदेश की जयराम सरकार और स्थानीय विधायक डॉ. राजीव बिंदल पर ओच्छे हथकंडे अपनाने के आरोप तक जड़ डाले। जानकारी के अनुसार हिमाचल निर्माता डॉ यशवंत सिंह परमार की जयंती पर बुधवार को प्रदेश कांग्रेस महासचिव अजय सोलंकी के नेतृत्व में मंडल कांग्रेस द्वारा पौधारोपण कार्यक्रम रखा गया था। नाहन में यशवंत चौक पर डॉक्टर परमार की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद तमाम कांग्रेसी नेता व पदाधिकारी निहोग गांव में पौधारोपण करने गए। करीब 3 दिन पहले ही स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों के द्वारा परमार जयंती पर वन विभाग की खाली पड़ी जमीन पर पौधारोपण किए जाने का कार्यक्रम तय कर लिया गया था।

इसके बाद अजय सोलंकी मंडल कांग्रेस अध्यक्ष ज्ञान चंद रूपेंद्र ठाकुर वरिष्ठ प्रधान जिला कांग्रेस व स्थानीय पंचायत के प्रतिनिधि पौधा लगाने के लिए पहुंचे। मगर इसी दौरान वन विभाग के अधिकारियों ने डॉक्टर परमार जयंती पर पौधारोपण करने से इंकार कर दिया। रेंज ऑफिसर ईश्वर चंद शर्मा ने अजय सोलंकी को कहा कि उनकी नौकरी को क्यों खतरे में डाल रहे हो। ईश्वर चंद ने कहा कि हमें ऊपर से किसी का फोन आया है। प्रदेश कांग्रेस महासचिव अजय सोलंकी ने कहा कि फॉरेस्ट अधिकारी ने पौधे लगाने से मना करते हुए वहां पर तार बाढ़ लगा दी।

सोलंकी ने सीधे-सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की जयराम सरकार अब औच्छे हथकंडो पर उतर आई है। उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक डॉ. बिंदल विधानसभा क्षेत्र में अपनी गिरती प्रतिष्ठा को लेकर हताश है। इसका साफ तौर पर परिणाम आज देखने को मिला है। अजय सोलंकी ने बताया कि पौधोरोपण कार्यक्रम के लिए विभाग द्वारा मना करने पर उन्होंने इसकी शिकायत उपायुक्त सिरमौर आरके गौतम से की। डीसी सिरमौर के हस्तक्षेप के बाद पंचायत के लोगों और मंडल कांग्रेस के लोगों को पौधा रोपण करने दिया गया।

उधर, रेंज ऑफिसर ईश्वर चंद शर्मा ने कहा कि उनको किसी नेता का फोन नहीं आया है। गांव के लोग पौधोरोपण कर रहे थे। तभी डीएफओ साहब का फोन आया और उन्होंने जैसे कहा हमने वैसा किया।डीएफओ नाहन वृत्त सौरभ जाखड़ ने बताया कि लोगों को पौधारोपण करने से नहीं रोका गया। मगर पार्टी के पोस्टर बैनर लगाकर पौधारोपण नहीं किया जा सकता है। इसके चलते मना किया गया।

बरहाल, इससे यह तो साफ हो जाता है कि हिमाचल निर्माता डॉ. परमार के नाम पर डीएफओ के द्वारा पौधारोपण करने से रोका जाना कहीं न कहीं किसी बड़े नेता द्वारा दिए गए निर्देश की ओर इशारा करता है।

इस मौके पर अजय सोलंकी ने जिला उपायुक्त सिरमौर से बात कर विभाग की नाकामी को उजागर कर वृक्षारोपण का कार्यक्रम करवाया। इस मौके पर रघुवीर पूर्व जिला परिषद, मंडलाध्यक्ष ज्ञान चौधरी, रूपेंद्र ठाकुर, बीना बनेठी रणवीर, सरज्ञान, नरेन्द्र तोमर गुरदयाल, मानी राम पुंडीर, भारत भूषण मोहिल, बॉबी चौहान, हितेन्दर, मान सिंह, जगदीश पुंडीर, नरेश दत्त, ओम लाल, राकेश गर्ग, नरेंद्र तोमर, अशोक सैनी, बलबीर, रसाल, तहसीलदार राजीव ठाकुर, पूर्व बीडीसी मेंबर गणमान्य पदाधिकारी सेकड़ो कार्यकर्ता शामिल थे।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो