दशहरा पूजा के लिए यह शुभ मुहूर्त है सबसे उत्तम, जाने शस्त्र पूजा मुहूर्त

HNN / नाहन

आज देशभर में दशहरा का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। हर साल अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि के दिन दशहरा मनाया जाता है और इस बार हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल दशहरा यानि विजयदशमी का त्योहार 15 अक्टूबर को मनाया जाएगा। धार्मिक मान्यताओं के आधार पर इस दिन भगवान श्री राम ने रावण का वध किया था और इसी दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का अंत किया था। इसलिए दशहरा को विजयदशमी भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन बुराई पर अच्छाई की जीत हुई थी।

दशहरा 2021 पूजा मुहूर्त

विजयादशी के दिन दोपहर में दशहरा की पूजा करने का विधान है। इस वर्ष आप दिन में 11 बजकर 30 मिनट से दोपहर 01 बजकर 25 मिनट तक दशहरा पूजा कर सकते हैं। इस मुहूर्त की दशहरा पूजा कीर्ति प्रदान करने वाली होती है।

दशहरा 2021 के शुभ मुहूर्त

अभिजित मुहूर्त: आज दिन में 11 बजकर 44 मिनट से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक। इस मुहूर्त में की गई पूजा से विजय प्राप्त होती है।

पूजा विधि
इस दिन चौकी पर लाल रंग के कपड़े को बिछाकर उस पर भगवान श्रीराम और मां दुर्गा की मूर्ति स्थापित करें। इसके बाद हल्दी से चावल पीले करने के बाद स्वास्तिक के रूप में गणेश जी को स्थापित करें। नवग्रहों की स्थापना करें। अपने ईष्ट की आराधना करें ईष्ट को स्थान दें और लाल पुष्पों से पूजा करें, गुड़ के बने पकवानों से भोग लगाएं। इसके बाद यथाशक्ति दान-दक्षिणा दें और गरीबों को भोजन कराएं। धर्म ध्वजा के रूप में विजय पताका अपने पूजा स्थान पर लगाएं।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो