सब्सटेंडर्ड दवाएं बनाने वालों को हो आजीवन कारावास- दीनदयाल वर्मा

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश को भी लिखा पत्र, नकली व मिलावटी दवाओं के कारोबार से आहत है कविराज दीनदयाल वर्मा

HNN/ नाहन

शहर के वरिष्ठ साहित्यकार दीन दयाल वर्मा ने प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री से दवा निर्माता कंपनियों के सैंपल दो बार फेल होने व स्वास्थ्य मानकों पर खरा न उतरने पर उसके मालिक को कारावास की सजा देने की मांग की है। दीन दयाल वर्मा ने इस संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को एक पत्र भी भेजा है। पत्र में उन्होंने जेनेरिक और दूसरी कंपनियों के दामों में भारी अंतर होने पर भी चिंता जताई है।

दीन दयाल वर्मा ने पत्र के माध्यम से कहा कि दवा कंपनियां दवा का मूल्य सौ प्रतिशत से भी अधिक लाभ में लिखकर आमजन को लूट रही है। इसके अलावा नकली दवाओं का कारोबार भी प्रदेश सहित देश में धड़़ल्ले से चल रहा है। जिससे युवा पीढ़ी नशे की गर्त में जा रही है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में कई दवा कंपनियों की दवा स्वास्थ्य मानकों पर खरी नहीं उतर रही है। ऐसा एक बार नहीं बल्कि बार-बार हो रहा है।

बावजूद इसके यह कंपनियां धड़ल्ले से दवा निर्माण कर रही हैं। जिसका खमियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने प्रधानमंत्री, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और प्रदेश मुख्यमंत्री से जेनेरिक व दूसरी दवाओं के अंतर को खत्म करने की मांग की है। ताकि आमजन को सही मूल्य पर दवा मिल सके। इसके अलावा दीन दयाल वर्मा ने नकली दवा का कारोबार करने वालों और जिस कंपनी की दवा स्वास्थ्य मानकों पर खरा न उतरे उस कंपनी को बंद करके उसके मालिक को आजीवन कारावास की सजा देने की मांग की है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो