देश की सौदेबाजी कर रहे ‘न खाऊंगा और न खाने दूंगा’ कहने वाले : रजनी पाटिल

कहा : देश को तोड़ने में लगी इतिहास से छेड़छाड़ करने वाली सरकार, भारत बचाओ रैली में 14 दिसम्बर को हिमाचल से जाएंगे हजारों कार्यकर्ता

HNN News/ शिमला

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा है कि देश के इतिहास में पहली बार देश विरोधी कट्टर ताकतें अपने वोट बैंक को मजबूत करने के लिए गलत तरीके अपना रही है। पहले 5 साल देश के इतिहास से छेड़छाड़ करने में गंवाने वाली केंद्र सरकार दूसरे कार्यकाल में भी काम करने की बजाए देश को तोड़ने में लगी है।

जारी प्रेस विज्ञप्ति में रजनी पाटिल ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार हो रहा है कि दिल्ली के रामलीला मैदान से कांग्रेस पार्टी 14 दिसम्बर को भारत बचाओ रैली के आयोजन से बड़े आंदोलन की शुरूआत कर रही है।आजादी के बाद देश को दोबारा गुलाम होने से बचाने के लिए इस आंदोलन का शंखनाद किया जा रहा है, क्योंकि देश में हालात बदतर हो चुके हैं।

उद्योग धड़ाधड़ बंद हो रहे हैं। नौकरियों पर संकट छाया हुआ है और महंगाई ने हर वर्ग का जीना मुश्किल कर दिया है। प्याज की कीमतों पर ही सरकार नियंत्रण नहीं कर सकी है जोकि कई जगहों पर डेढ़ सौ रूपए से पार हो चुका है। सरकार देश को चंद उद्योगपतियों के आगे नतमस्तक होकर सरकारी उपक्रमों की सौदेबाजी में लगी हुई है।इतना सबकुछ होने के बावजूद सरकार नए-नए विधेयक लाकर पब्लिसिटी में लगी हुई है।

न खाऊंगा और न खाने दूंगा जैसे जुमले बोलने वालों के सामने देश को बेचने का मसौदा तैयार हो रहा है।ऐसी परिस्थतियों से देश को उबारने के लिए ही आजादी की लड़ाई में बलिदान देने वाली देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस द्वारा भारत बचाओ रैली का आयोजन किया जा रहा है जिसमें हिमाचल से भी हजारों कार्यकर्ता शामिल होंगे।इसके लिए सारी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।उन्होंने जनता से भी आह्वान किया कि अब वक्त आ गया है कि सभी एकजुट होकर घरों की दहलीज लांघे और इस आंदोलन में अपनी सहभागिता सुनिश्चित करें, ताकि आने वाली पीढ़ि गुलाम भारत में सांस न ले।

Test