देश के प्रतिष्ठित संस्थान एम्स में हुआ राजगढ़ की तमन्ना का चयन

HNN / राजगढ़

मंजिले उन्हीं को मिलती है जिनके सपनों में जान होती है। पंखों से कुछ नहीं होता , हौसलों से उड़ान होती है। यह पंक्तियां राजगढ़ की तमन्ना चौहान पर खरी उतरती है, जिसने राष्ट्रीय स्तर की नोरसेट प्रतियोगिता में उत्कृष्ट स्थान हासिल करके राजगढ़ क्षेत्र का नाम रोशन किया है। बीते माह दिसंबर 2021 को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान( एम्स )ऋषिकेश के लिए हुई चयन प्रतियोगिता का परिणाम बीते दिनों घोषित हुआ। जिसमें तमन्ना का नर्सिंग टयूटर के पद के लिए चयन हुआ है।

तमन्ना राजगढ़ से पहली युवती है जिसने देश के प्रतिष्ठित एम्स संस्थान में दस्तक दी है। सबसे अहम बात यह है कि तमन्ना द्वारा अपनी जुडवा बेटी के पालन पोषण के साथ साथ अपने भविष्य को देखते हुए प्रतियोगितात्मक परिक्षाओं के लिए पढ़ाई जारी रखी। एम्स में चयन होने पर तमन्ना के परिवार में खुशी का माहौल है और बधाईयां देने वालों का तांता लगा हुआ है। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार तमन्ना बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होनहार छात्रा रही है।

इनके द्वारा वर्ष 2010 में 10+2 की परीक्षा वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल राजगढ़ से उतीर्ण की। तदोपरांत 2014 में मुरारीलाल मेमोरियल नर्सिंग काॅलेज सोलन से बीएससी नर्सिंग और 2018 में अकाल नर्सिंग काॅलेज बड़ूसाहिब से एमएससी (नर्सिंग) की डिग्री हासिल की। वर्तमान में तमन्ना मुरारीलाल मेमोरियल नर्सिंग काॅलेज सोलन में बतौर सहायक प्रोफेसर कार्यरत है। तमन्ना चौहान की पृष्ठभूमि एक शिक्षित परिवार से है।

इनके पिता एक सफल शिक्षक है। इनके पिता ससुर हाल ही में जल शक्ति विभाग से जेई के पद से सेवानिवृत हुए हैं । माता सास मीरा नगर पंचायत की पूर्व अध्यक्षा के पद पर आसीन रही है। तमन्ना ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता -पिता तथा ससुराल पक्ष को दिया है जिनके आर्शिवाद से उन्होने यह मुकाम हासिल किया है। चिकित्सा क्षेत्र में पीड़िता मानवता की सेवा करने में अवसर प्राप्त होने पर तमन्ना इसको अपना सौभाग्य मानती है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो