नव वर्ष आगमन/ पवित्र ब्यास नदी की होगी महाआरती।

121 पंडितों की उपस्थिति में होगी ब्यास की महाआरती। 
पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना भी है मकसद : प्लास्टिक, पॉलीथिन का नहीं होगा इस्तेमाल, मुख्यमंत्री को भी किया जाएगा आमंत्रित।  

HNN News /कुल्लू।

पहली जनवरी को मौहल के नेचर पार्क में ब्यास महाआरती का आयोजन किया जाएगा। जिला प्रशासन की ओर से देवी-देवता पुजारी संघ, कारदार संघ, बजंतरी संघ, जिला के अन्य संगठनों और विभिन्न विभागों की मदद से आयोजित की जाने वाली इस महाआरती में हजारों लोगों के भाग लेने की उम्मीद है और इसके लिए लगभग सभी तैयारियां कर ली गई है। इस मौके पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया जा रहा है। 

महाआरती की तैयारियों को लेकर जिलाधीश यूनुस ने वीरवार को विभिन्न विभागों के अधिकारियों, देवी-देवता पुजारी संघ, कारदार संघ, बजंतरी संघ और जिला के अन्य संगठनों के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

उन्होंने बताया कि यह महाआरती एक जनवरी को संध्याकाल में करीब पांच बजे आरंभ की जाएगी। महाआरती की सभी व्यवस्थाएं और अंतिम तैयारियां दोपहर बाद तीन बजे शुरू कर दी जाएंगी।

महाआरती में प्लास्टिक या पालीथिन की किसी भी वस्तु या सामग्री का प्रयोग नहीं किया जाएगा। आटे या मिट्टी के दीये और पत्तों के डोने से ही आरती की जाएगी। इच्छुक श्रद्धालु अपने स्तर भी आटे या मिट्टी के दीये और डोने ला सकते हैं।

जिलाधीश ने पुलिस, होमगार्ड और परिवहन विभाग के अधिकारियों को आयोजन स्थल पर कानून व्यवस्था, यातायात, पार्किंग और आपदा प्रबंधन से संबंधित सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। बैठक में ब्यास महाआरती से संबंधित अन्य व्यवस्थाओं पर भी विस्तार से चर्चा की गई।

इस मौके पर एसडीएम डॉ. अमित गुलेरिया, सहायक आयुक्त सन्नी शर्मा, डीएसपी आशीष शर्मा, अन्य अधिकारी और देवी-देवता पुजारी संघ, कारदार संघ, बजंतरी संघ और अन्य संगठनों के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *