नशा तस्करी पर अब प्रदेश पुलिस लगाएगी लगाम, होंगे स्टिंग ऑपरेशन

HNN News/ शिमला

प्रदेश में नशा काफी तेजी से फ़ैल रहा है। जिसके कारण युवा पीढ़ी को नुक्सान पहुँच रहा है। बता दें कि युवा पीढ़ी नशे की चपेट में बुरी तरह से फंसी हुई है। इसलिए अब प्रदेश में इसके लिए स्टेट CID ने खुफिया बटन कैमरे खरीदे हैं। इनका इस्तेमाल नारकोटिक्स क्राइम रोकथाम में होगा।

सूत्रों के अनुसार सीआइडी कर्मी अपने मुखविरों के माध्यम से संदिग्ध तस्करों की जासूसी करेंगे। अब तक ऐसे 30 कैमरे खरीद लिए गए हैं। वहीं, 40 बटन कैमरे खरीदने की स्वीकृति और मिली है। यह स्वीकृति गृह मंत्रालय के नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरोे की ओर से आई है।

खुफिया बटन कैमरे ज्यादा महंगे नहीं हैं। एक बटन कैमरे की कीमत ढाई हजार रुपए है। इनमें ट्रांसमीटर भी लगा होगा। ऑडियो व वीडियो दोनों की एक घंटे तक की रिकॉर्डिंग हो सकेगी।

हिमाचल में नारकोटिक्स क्राइम के मामले में वृद्धि हो रही है। हर साल सैकड़ों मामले दर्ज हो रहे हैं। दस साल में 6261 मामले दर्ज किए गए। इन मामलों में हर साल इजाफा हो रहा है। तस्करी में भारतीयों के अलावा विदेशी मूल के नागरिक भी पहाड़ी राज्य में बड़ी तादाद में सक्रिय हैं।