नाहन शहर में पतंगबाजी का जुनून चरम पर

HNN News/ नाहन

नाहन में रक्षाबंधन के पर्व पर जहां पहले भाइयों के लिए विशेष तैयारियों में जुटी हुई है, तो वही नाहन शहर के भाई इन दिनों अपने सब कामकाज भूलाकर छतों पर चरखी व पतंग लेकर बैठ गए हैं। मजे की बात तो यह है कि नहान शहर में पतंगबाजी के जुनून में ना केवल बच्चे बल्कि लड़कियां व बूढ़े भी पीछे नहीं है।

शहर में रियासत कालीन समय से आसमान पर डोर व पतंग से पैसे लड़ाने का क्रम लगातार जारी है पतंग बाज सुबह का नाश्ता हो या शाम का खाना यहां तक की दोपहर की चाय भी छत पर ही पीते हैं। प्रशासन के द्वारा पतंग बाजो से यह भी अपील की गई है कि वह पतंग उड़ाते समय सावधानी बरतें।

तो वहीं विभिन्न सामाजिक संगठनों के द्वारा प्रतिबंधित चाइनीस दूर का इस्तेमाल ना किए जाने की अपील भी की गई है। नाहन में इन दिनों पतंगबाजी का दौर चरम पर है।

चाइनीस डोर जाने के बाद मांझा सुतने की परंपरा लगभग समाप्त हो चुकी है तो वही बैरिंग वाली चर्चाओं का चलन भी बना है। प्रतिवर्ष जिला सिरमौर में रियासत कालीन से पतंगबाजी की जाती है और आज भी यह दौर जारी है।