निठल्ले विधायक के चलते दून में अंधेर नगरी चौपाट राजा जैसा हाल – बबलू पंडित

गांव में पेयजल किल्लत और सिंचाई व्यवस्था ठप्प होने से परेशान ग्रामीण

HNN / बद्दी 

दून विधानसभा क्षेत्र में विकास की क्या परिभाषा होती है शायद विधायक परमजीत सिंह पम्मी को पता नहीं है। अगर उद्घाटनों और शिलान्यासों को ही विकास कहा जाता है तो दून की जनता को ऐसे फर्जी विकास की जरूरत नहीं है। दून में लोग आज भी बिजली, पानी, सडक़, स्वास्थ्य सुविधा, शिक्षा, युवाओं को रोजगार समेत अन्य समस्याएं से जूझ रहे हैं और इसके दोषी दून के निठल्ले विधायक और प्रदेश की भाजपा सरकार है।

दून हल्के की ग्राम पंचायत भटौलीकलां के गांव दसोरामाजरा में पहुंचे इंटक प्रदेशाध्यक्ष बबलू पंडित ने प्रदेश सरकार और दून विधायक पर हमला बोला। दसोरामाजरा पहुंचने पर इंटक प्रदेशाध्यक्ष का ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया और बबलू पंडित के समक्ष दुखड़ा रोया। पूर्व पंच ज्ञान चंद, पंच रणजीत, संजीव ठाकुर पंलाखवाला, जीत राम, हरि चंद, भूप सिंह, कुलतार सिंह, गुरभाग सिंह, लक्ष्मी चंद, हैप्पी, रमेश चंद, नितेष, जीत राम, रामजी दास समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि लोग पेयजल समस्या से जूझ रहे हैं और गंदा पानी पीने को मजबूर है।

लोगों ने बताया कि आईपीएच विभाग द्वारा दसोरामाजरा में सिंचाई स्कीम लगाई गई थी। लेकिन बीबीएनडीए द्वारा सडक़ का निर्माण किए जाने के चलते सिंचाई स्कीम को तहस नहस कर दिया गया। जगह जगह से सिंचाई स्कीम की पाईपें टूटी होने के कारण आज तक किसानों के खेतों में पानी नहीं पहुंचा।
ग्रामीणों ने बताया कि आईपीएच विभाग द्वारा सिंचाई स्कीम को पेयजल स्कीम से जोडक़र लोगों को पीने का पानी मुहैया करवाया जा रहा है।

सिंचाई स्कीम के पानी में मिट्टी आने के चलते ग्रामीण गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। ग्रामीणों ने बताया कि कुंजाहल से दसोरामाजरा सडक़ की हालत खस्ता है और सडक़ का नामोनिशान मिट चुका है। जिसके चलते 2000 लोगों की आबादी प्रभावित हो रही है जिसमें 300 बच्चे और 600 महिलाएं भी शामिल हैं।

तीन महीने से टूटी है प्राथमिक स्कूल की दीवार
ग्रामीणों ने बताया कि राजकीय प्राथमिक पाठशाला दसोरामाजरा स्कूल की दीवार 3 महीने से टूटी है। लेकिन न तो स्कूल प्रशासन और न ही किसी विभाग ने इसकी सुध ली। जिस कारण आवारा पशुओं और असमाजिक तत्वों ने स्कूल में ढेरा जमा रखा है। इंटक प्रदेशाध्यक्ष बबलू पंडित ने बीबीएन के उद्योगों से अपील की है कि सीएसआर के तहत स्कूल की मदद के लिए हाथ बढाएं।

इंटक प्रदेशाध्यक्ष बबलू पंडित ने कहा कि दसोरामाजरा गांव की सभी समस्याओं को संबंधित विभागों के समक्ष उठाकर जल्द से जल्द हल करवाने का प्रयास किया जाएगा। अगर संबंधित विभागों ने समस्याओं को गंभीरता से नहीं लिया तो इंटक ग्रामीणों के साथ मिलकर आंदोलन का रास्ता अख्तयार करने को विवश हो जाएगी। इस मौके पर इंटक उपाध्यक्ष राजीव शर्मा, बीबीएन अध्यक्ष राज शर्मा, महेंद्र सिंह महासचिव इंटक, उपाध्यक्ष लायक राम, श्याम लाल, युवा इंटक अध्यक्ष सूरज शर्मा, युवा इंटक से पंकज, दीप चौधरी, गुरदीप कुमार, साजन कुमार, मनीष कुमार, रिंपी गुर्जर, अक्षय गुर्जर समेत ग्रामीण उपस्थित रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो