नूरपुर के वार्ड नौ में भूस्‍खलन से दो मकान गिरे, बाल-बाल बचे घर में बैठे लोग

11 भवनों पर मंडराया खतरा

HNN News/ कांगड़ा

नूरपुर के वार्ड 9 में शनिवार रात भूस्खलन से दो मकान गिर गए, जबकि साथ लगते 11 अन्य घर खतरे की चपेट में आ गए हैं, जिसमें पांच घर पर ज्यादा खतरा मंडरा रहा है। प्रशासन ने चार परिवारों को तुरंत सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दिया है। भूस्खलन के कारण ओम प्रकाश व बुधो राम के मकान गिर गए हैं। जिस समय यह हादसा हुआ उस समय घर के लोग सोये नहीं थे और उन्होंने भाग कर सड़क पर पहुंच कर जान बचा ली। अगर हादसा देर रात होता तो इसमें बड़ा जानी नुकसान हो सकता था।

रविवार सुबह एसडीएम डॉक्‍टर सुरेंद्र ठाकुर ने घटनास्थल का दौरा किया और चार परिवारो को रेवन्यू कालोनी में शिफ्ट करवाया। इस अवसर पर उनके साथ प्रदेश भाजयुमों प्रदेश सचिव भवानी पठानिया भी मौके पर मौजूद रहे। इस वार्ड में पिछले कुछ वर्षों से भूस्खलन का खतरा बना हुआ है और इसकी रोकथाम के लिए सरकार द्वारा डंगे व क्रेट भी लगवाए गए थे। लेकिन इस बरसात में वह भी गिर गए थे और शनिवार को एक और भूस्खलन से दो घर गिर गए।

भूस्खलन से प्रभावित ओम प्रकाश, बुधो राम, सोहन व आशा देवी के परिवारों को रेवन्यू कलोनी शिफ्ट किया गया है। एसडीएम सुरेंद्र ठाकुर ने बताया भूस्खलन होने से वार्ड 9 में दो घर गिर गए हैं और इससे करीब 11 मकानों को खतरा हो गया है। उन्होंने बताया पांच घरों के लोगों को रेवन्यू काॅलोनी में शिफ्ट किया है। उन्होंने कहा भूस्खलन से प्रभावित परिवारों के पुर्नवास के लिए जगह चिन्हित कर ली है और इसकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेज दी है।

वहीं विधायक राकेश पठानिया ने इस संदर्भ में बताया कि हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम को घटनास्थल पर भेजा गया है व प्रभावित परिवारों के सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रभावित परिवारों के पुनर्वास का सरकार की ओर से प्रबंध किया जा रहा है।