नेपाल भूटान से नाहन के स्कूल को स्टूडेंट दिलाने का लालच देकर ठगने वाले गिरफ्तार

भूटान व नेपाल सरकार के एजेंटों को कमीशन दिला कर एडमिशन दिलाने का दिया लालच, ₹82500 ठग कर चुकाया क्रेडिट कार्ड का लोन, सिरमौर पुलिस ने सुलझाया मामला

HNN News नाहन

जिला सिरमौर पुलिस व साइबर सेल की टीम ने संयुक्त रूप से शातिराना अंदाज में विदेश के बच्चों को एडमिशन दिलाने के लालच में पैसा ठगने वाले 3 ठगों को मात्र कुछ घंटों में ही गिरफ्तार कर लिया है ।

मामला कुछ इस प्रकार से है कि मुख्य आरोपी रविंद्र बेनीपाल व उसके दो साथी संदीप और दीपक ने नाहन के एक निजी स्कूल को नेपाल और भूटान सरकार में सेटिंग होने का हवाला देकर वहां से बच्चों को यहां एडमिशन दिलाने का लालच दिया।

मुख्य आरोपी रविंद्र बेनीपाल ने इस निजी शिक्षण संस्थान के मालिक को कहा कि नेपाल और भूटान सरकार में उनके एजेंट हैं जो कुछ कमीशन लेकर सरकारी योजना के तहत वहां से बच्चों को आपके स्कूल में एडमिशन दिलाएंगे।

उनके द्वारा दिए गए इस लालच में आकर स्कूल मालिक से पहली बार में रजिस्ट्रेशन कराने के नाम पर 50000 पर ले लिए। उन्होंने कहा कि वहां से बच्चे लाकर आपके स्कूल में ऐडमिशन दिलाएंगे जिसमें कुछ उनका भी कमीशन रहेगा ।

तीनों आरोपीयों ने पैसे लेकर भूटान और नेपाल जाकर एजेंटों से उनकी बात कराने का भी वायदा किया । चूंकि जिस अंदाज और शातिराना तरीके से उन्होंने यह गेम प्लान किया था उसमें उनसे एक बड़ी चूक यह हो गई कि उन्होंने भूटान में रजिस्ट्रेशन के लिए फिर से ₹32500 लिए। और उन पैसों को एटीएम के जरिए क्रेडिट कर डाला।

इससे पहले निजी स्कूल के मालिक ने उनसे बार बार संपर्क किया कि वे एजेंट से कब बात कराएंगे। स्कूल मालिक को उनकी बातों और गतिविधियों पर शक हुआ। उसे लगा कि उसके साथ कोई धोखा किया जा रहा है।

इसको लेकर स्कूल मालिक ने नाहन सदर थाना में अपनी शिकायत भी दर्ज की। दर्ज की गई शिकायत के आधार पर पुलिस ने साइबर सेल की मदद लेते हुए अपना जाल बिछा दिया। अब तैयार रणनीति के तहत जैसे ही स्कूल मालिक ने 32 हजार ₹500 उनके खाते में डाले तो उन्होंने उस पैसे को देहरादून के किसी एटीएम से निकाला।

जिससे उनकी लोकेशन ट्रेस हो गई पुलिस ने बगैर कोई वक्त गवाएं देहरादून की ओर कूच किया। इससे पहले की यह जाल साज पैसा लेकर रफूचक्कर होते उससे पहले सिरमौर पुलिस ने उन्हें नगद पैसे के साथ धर दबोचा।

सदर पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश करने के बाद 3 दिन के रिमांड की मांग भी की। माननीय अदालत ने 11 अक्टूबर तक का रिमांड मंजूर करते हुए आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेज दिया। इनमें से एक आरोपी नेपाल का रहने वाला है बाकी दो हरियाणा करनाल के हैं।

सदर थाना पुलिस के द्वारा आरोपियों पर अंतर्गत धारा 104 /19 तथा अंतर्गत धारा 420 आईपीसी दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस रिमांड के दौरान यह जानने का प्रयास करेगी कि उन्होंने इससे पहले कहां और किसके साथ इस प्रकार की ठगी की है। टीम में कोतवाल मानव ठाकुर के अलावा थाना सदर नाहन से मुख्य आरक्षी मनोज शर्मा, विकास कांडा, आरक्षी राजेश व साइबर सेल से सुरेंद्र दत्त व अमरेंद्र सिंह शामिल थे।

मामले की पुष्टि जिला सिरमौर पुलिस कप्तान अजय कृष्ण शर्मा ने की है।

http://facebook.com/HimachalNowNews