पर्यटन और पौराणिक दृष्टि से डल झील का अपना विशेष महत्व…

HNN/ काँगड़ा

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीन चौधरी ने धर्मशाला के नड्डी में डल झील का निरीक्षण किया तथा डल झील में चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को इसके जीर्णोद्धार व रखरखाव तथा कार्यों को समयबद्ध पूरा करने के निर्देश दिये। सरवीन ने कहा कि पर्यटन और पौराणिक दृष्टि से डल झील का अपना विशेष महत्व है तथा हर वर्ष लाखों की संख्या में देश व विदेश से श्रद्धालु इसको निहारने के लिए आते हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में धार्मिक पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं और प्रदेश सरकार मंदिरों के सौंदर्यकरण और अन्य मूलभूत सुविधाओं को विकसित कर हर क्षेत्र को और अधिक बढ़ावा देने पर बल दे रही है। सरवीन ने कहा कि प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण व सृजनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने की दिशा में सरकार निरन्तर प्रयासरत है।

उन्होंने कहा कि प्रकृति ने हिमाचल प्रदेश को असीम प्राकृतिक सौन्दर्य प्रदान किया है, जिसके परिणास्वरूप प्रदेश में लाखों की संख्या में स्वदेशी व विदेशी पर्यटक आते हैं। सरवीन ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन विकास की अपार सम्भावनाओं को देखते हुए अनेक बड़ी परियोजनाएं आरम्भ की गई हैं। एशियन विकास बैंक की सहायता से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अधोसंरचनात्मक सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। डल झील प्रकृति प्रेमियों के लिए एक अविस्मरणीय स्वर्ग से कम नहीं है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो