पांवटा विधानसभा में 7 करोड 85 लाख रूपये पेयजल व सिंचाई योजनाओं पर होगे व्यय- सुखराम चौधरी

HNN/ पांवटा

पांवटा विधानसभा क्षेत्र में चालू वित वर्ष के दौरान पेयजल तथा सिंचाई योजनाओ पर 7 करोड 85 लाख रूप्ये की राशि व्यय की जा रही है जिसके तहत पेयजल योजनाओ पर 4 करोड 24 लाख जबकि सिंचाई योजनाओं पर 1 करोड 18 लाख रूप्ये की राशि व्यय की जा रही है यह जानकारी उर्जा मंत्री चौधरी सुखराम ने आज पांवटा के समीप कांशीपुर में जल जीवन मीशन के अंतर्गत 57 लाख की राशि से निर्मित होने वाली कांशीपुर ज्वालापुर उठाऊ पेयजल योजना का भूमि पूजन करने के उपरान्त उपस्थित जन समूह को सम्बाधित करते हुए दी।

उन्होने बताया कि इस पेयजल योजना के पूर्ण होने पर दो गांव कांशीपुर तथा ज्वालापुर की 2500 से अधिक आबदी लाभान्वित होगी। उन्होने कहा कि पांवटा के समीप जम्बूखाला में 11 करेाड की राशि से मल शोधन संयत्र स्थापित किया जा रहा है जिसका निर्माण कार्य प्रगति पर है। उन्होने बताया कि यमुना नदी के तटीयकरण के लिए 251 करोड की डीपीआर स्वीकृत हो चुकी है इसके अतिरिक्त पांवटा विधानसभा क्षेत्र में नाबार्ड के माध्यम से 11 करोड 67 लाख रूप्ये की लागत से 25 टयूबवेल स्थापित किये जाएगे जिससे इस क्षेत्र की 6000 बीघा से अधिक भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी।

उन्होने बताया कि पांवटा विधानसभा क्षेत्र की पुरानी 20 सिंचाई योजनाओं की खराब मशीनरी को बदलने के लिए एक करोड की राशि स्वीकृत की गई है। उन्होने बताया कि प्रदेश सरकार ने किसान बागवान तथा प्शुपालको की आर्थिकी सुदृढ करने के लिए अनेको कल्याणकारी योजनाए चलाई है उन्होने लोगो से अपील करते हुए कहा कि इन योजनाओ का लाभ उठाऐं उन्होने कहा कि पांवटा विधानसभा क्षेत्र की भूमि बहुत उपजाउ है जहां गेहू, मक्की, धान की पैदावार होती है।

प्रदेश सरकार किसानो सिचाई सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है कोरोना महामारी के कारण विकास प्रभावित हुआ है इसके बावजूद भी प्रदेश सरकार विकास के लिए हर सभंव प्रयास कर रही है। उन्होने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के लिए भूमि उपलब्ध करवाने का आग्रह किया और कहा कि भूमि उपलब्ध होने पर शीघ्र ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निर्माण कर दिया जाएगा।
   

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो