पाइनग्रोव स्कूल में धूमधाम से मनाया गया वार्षिक उत्सव

HNN News/ सोलन

पाइनग्रोव स्कूल सुबाथू में विद्यालय का वार्षिक उत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर एक साथ मार्च पास्ट करते हुए 110 विद्यार्थियों द्वारा परेड, 39 विद्यार्थियों और छात्राओं द्वारा जिमनास्टिक, 40 विद्यार्थियों द्वारा ब्रास बैंड, भारतीय शास्त्रीय संगीत और पाश्चात्य संगीत फ्यूजन नृत्य तथा अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

छात्र-छात्राओं द्वारा बुनाई-कढ़ाई व सिलाई एवं हस्तशिल्प कला की प्रदर्शनी लाजवाब रही। छात्र-छात्राओं ने विद्यालय ध्वज के साथ स्कूल बैंड पर स्वागतम सारे जहां से अच्छा, विजय भारत और हम होंगे कामयाब कि धुनों पर उत्साह व जोश के साथ परेड की।

भारतीय वेशभूषा में 51 विद्यार्थियों ने अलग-अलग समूह नृत्य किया। वहीं ब्रास बैंड की धुन पर ड्रिल करते हुए विद्यार्थियों ने संगीत सम्राट एआर रहमान के विश्वविख्यात गीत जय हो की धुन पर आधारित एक दृश्य ने न केवल दर्शकों का मन भाया बल्कि सभी को थिरकने पर मजबूर कर दिया। स्कूल के छात्रों ने एक लघु नाटिका सुबह एक नई शुरुआत प्रस्तुत की।

जिसमें निम्न वर्ग से बहुत सी भावनात्मक अपेक्षाओं के कारण उनके मन मे निराशा अकेलेपन व एक सर्वकालिक पीड़ा को जन्म देती है जो आज के परिवेश में स्वाभाविक है। बस जरूरत है तो एक दृढ़ इच्छाशक्ति एवं किसी अपने के साथ की। वही स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट में विद्यालय की गत वर्ष की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए बताया गया कि विद्यालय प्रतिवर्ष उन्नति की ओर अग्रसर है। केशव बंसल, राहुल सोनी, मिताली शर्मा, परिधि छवि व स्वप्निल चंदेल द्वारा पढ़ी गई विद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट में विद्यालय की विभिन्न उपलब्धियों तथा विभिन्न प्रतियोगिताओं के सफल आयोजन तथा सर्वोत्तम प्रदर्शन का वर्णन किया गया।

विद्यालय के वार्षिक उत्सव में डॉ साधना ठाकुर चैयरमेन हिमाचल प्रदेश रेड क्रॉस सोसाइटी ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। उन्होंने कहा कि विद्यालय ने अपने अथक परिश्रम से अल्प समय में देशभर में नाम कमाया है। स्कूल ने प्रत्येक गतिविधि पर ध्यान केंद्रित कर एक विशेष संस्था के रूप में अपनी पहचान बना ली है। इस दौरान उन्होंने स्कूल के संगम सेतु का भी उद्घाटन किया। विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में एक प्रशंसनीय कार्य कर रहा है।

विद्यालय के वार्षिकोत्सव पर सुचारु रुप से की गई व्यवस्था और विभिन्न कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए स्कूल के प्रबंधक, स्टाफ और छात्रों द्वारा किए गए कार्य की भरपूर प्रशंसा की गई।