प्रदेश भाजपा के किलेदार के गढ़ में निगम भंडारी की दस्तक


2022 के लिए युवा कांग्रेसी नेता ने दे दी खुली चुनौती

HNN / नाहन

प्रदेश युवा कांग्रेस के तेजतर्रार और उभरते युवा कांग्रेसी नेता निगम भंडारी ने 2022 के लिए प्रदेश भाजपा सरकार को खुली चुनौती दे दी है। निगम भंडारी ने पत्रकार वार्ता के बाद हिमाचल नाउ न्यूज़ से हुई विशेष बातचीत में बताया कि प्रदेश में जयराम सरकार आज तक की सबसे कमजोर सरकार साबित हुई है।

निगम भंडारी ने कहा कि जिला सिरमौर से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जो कि सांसद भी हैं और चेयरमैन ,मंत्री और बड़े-बड़े दिग्गज भाजपा नेता हैं जो कि सिरमौर के विकास की जगह अपने विकास में लगे हुए हैं। उन्होंने मेडिकल कॉलेज में फैले भ्रष्टाचार को लेकर सरकारी संरक्षण का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि नाहन का मेडिकल कॉलेज केवल एक व्यक्ति को लाभ पहुंचाने के लिए बनाया गया है ना कि जनहित के लिए। निगम भंडारी ने प्रदेश की भाजपा सरकार के ऊपर तीखे प्रहार करते हुए कहा कि मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों को 32-32 हजार के किराए पर फ्लैट दिलवाए गए हैं।

यही नहीं 1 लाख रुपए प्रति महीने के पानी के बिलों के भुगतान किए जाते हैं और जिस व्यक्ति के फ्लैट हैं उसी के हॉस्टल में मेडिकल कॉलेज के छात्रों की कैंटीन भी है। इसके साथ साथ इसी व्यक्ति विशेष की स्कूल की बसों में मेडिकल कॉलेज के छात्रों को भी ढोया जाता है। भंडारी ने कहा इससे साफ जाहिर होता है कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार को पूरी तरह से संरक्षण दे रही है।

निगम भंडारी ने कहा कि प्रदेश का किसान और सेब का बागवान घोर संकट में है। बाजार में सेब के दाम गिर जाने के कारण जहां सरकार को बागवान की सहायता की जानी चाहिए थी, वहां इनके मंत्री सड़कों पर खड़े होकर सेब बेचने की बातें कहते हैं। निगम भंडारी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री इन्वेस्टर मीट के सेकंड पार्ट की तैयारियां कर रहे हैं। जबकि अदानी अंबानी को संरक्षण देकर सेब कारोबारियों के लिए किसी भी प्रकार का इंफ्रास्ट्रक्चर सरकारी स्तर पर तैयार नहीं कर सके हैं। उन्होंने बताया कि अगर प्रदेश सरकार के द्वारा सेब बहुल क्षेत्रों में सरकारी कोल्ड स्टोर बनाए गए होते तो आज किसान और बागवान इस बड़ी घाटे की त्रासदी से ना गुजरता। निगम भंडारी ने कहा कि प्रदेश की जनता और प्रदेश का कर्मचारी वर्ग प्रदेश सरकार की नीतियों से अब बुरी तरह से तरस हो चुका है।

प्रदेश के कर्मचारी से लेकर आम व्यक्ति तक अब 2022 का इंतजार कर रहा है कि जल्द से जल्द इस सरकार को बाहर का रास्ता दिखाया जाए। निगम भंडारी ने कहा कि जयराम सरकार और इनके मंत्री बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। 300- 300 करोड़ के विकास के शगुफे साडे 3 साल के बाद छोड़ते हैं। उन्होंने कहा कि जनता इनके इन प्रखंडों को अब अच्छी तरह से समझने लग पड़ी है। प्रदेश का युवा परेशान है। निगम भंडारी ने जयराम सरकार से पूछा कि उनके रोजगार दिलाने के वादे गए तो गए कहां। उन्होंने कहा कि अगर उन्होंने युवाओं को किए गए वायदे के अनुसार रोजगार दिलाया है तो प्रदेश का युवा दूसरे राज्य में नौकरी के लिए क्यों पलायन कर रहा है।

निगम भंडारी ने यह भी कहा कि महंगाई के इस दौर में प्रदेश सरकार ने डीजल व पेट्रोल के दाम कम करने में भी जरा भी कोशिश नहीं की है। यही वजह है कि पहाड़ी राज्य का हर व्यक्ति महंगाई से बुरी तरह से परेशान है।

बरहाल प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष और तेजी से उभरते इस युवा कांग्रेसी नेता ने जिस प्रकार आज भाजपा के किलेदार के किले से खुली चुनौती दी है वह प्रदेश सरकार के लिए खतरे की घंटी है। निगम भंडारी लगातार भाजपा पर हमलावर हैं और जिस प्रकार वे ज्वलंत मुद्दों को लेकर जयराम सरकार की घेराबंदी कर रहे हैं उसको लेकर जनता का समर्थन भी उन्हें मिलता नजर आ रहा है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो