प्रदेश में हो रही सड़क दुर्घटनाओं में हर साल बूझ रहे सैकड़ों चिराग

HNN/ शिमला

हिमाचल प्रदेश में हर साल सड़क दुर्घटनाओं में सैकड़ों लोग अपनी जान गवा रहे हैं। इसके अलावा इन सड़क दुर्घटनाओं में कई लोग घायल भी हुए हैं। आमतौर पर लोगों की लापरवाही के चलते वाहन हादसे का शिकार हो जाते हैं। प्रदेश में आए दिन ओवरस्पीड के चलते वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं जिनमें नौजवान युवक अपनी जान गवा रहे हैं। तो वहीं कई हादसे प्राकृतिक कारणों से भी हो रहे हैं।

वही नए साल की शुरुआत में ही प्रदेश में कई वाहन हादसे का शिकार हुए हैं, जिनमें तीन से चार बसें भी शामिल है। हर साल बढ़ रहा दुर्घटनाओं का ग्राफ चिंता बढ़ा रहा है। पुलिस प्रशासन द्वारा आए दिन लोगों को यातायात नियमों का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है तथा उन्हें इस बाबत जागरूक भी किया जाता है। इतना ही नहीं यातायात नियमों की अवहेलना पर चालान भी काटे जा रहे हैं बावजूद इसके प्रदेश में आए दिन सड़क दुर्घटनाएं पेश आ रही है।

बता दें कि 2015-16 में 3168 दुर्घटनाएं हुई जिसमें 1271 की मौत हुई और 5764 घायल हुए। इसी तरह से वर्ष 2016-17 में 3114 दुर्घटनाएं हुई 1203 की मौत हुई और 5452 घायल हुए। वर्ष 2017-18 में 3110 कुल दुर्घटनाएं हुई, 1208 मौते हुई और 5551 लोग घायल हुए। वर्ष 2018-19 में 2873 कुल दुर्घटनाएं हुई 1146 की मौत हुई और 4904 घायल हुए। 2019-20 में 1791 दुर्घटनाएं, 671 की मौत हुई और 2520 घायल हुए।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो