प्रशासन ले संज्ञान वरना ना तो मिलेगा टैक्स और ना ही देंगे वोट- हिंदुस्तानी

यशवंत विहार कल्याण समिति की बैठक में नगर प्रशासन के खिलाफ निकला गुब्बार

HNN/ नाहन

हिमाचल निर्माता के नाम पर बनी जिला की पहली कॉलोनी सरकार व प्रशासन की अनदेखी का शिकार हो गई है। शहर की सबसे आदर्श कैलाश जाने वाली इस कॉलोनी की व्यवस्थाओं की बरसात ने पोल खोल दी है।
ड्रेनेज की व्यवस्था ना होने के चलते और अवैज्ञानिक ढंग से प्लॉट की कटिंग को लेकर एक दर्जन से भी अधिक मकानों पर ढह जाने का संकट खड़ा हो गया है। इन गंभीर समस्याओं को लेकर डॉ यशवंत विहार कल्याण समिति की आज रविवार को आपात बैठक बुलाई गई।

समिति के प्रधान सुरेंद्र हिंदुस्तानी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में नगर परिषद और जिला प्रशासन के खिलाफ लोगों ने जमकर गुबार निकाला। स्थानीय निवासी देव दत्त सै,नी विद्या दत्त शर्मा, सुनीता राणा, भवानी शंकर, राजन शर्मा आदि ने बताया कि वह नगर परिषद को पूरा टैक्स देते हैं। मगर जब वह अपनी समस्या लेकर उनके पास जाते हैं तो वह इस क्षेत्र के प्रॉपर्टी डीलर जैन बंधुओं के पास जाने के लिए कहते हैं। तो वही इन सब ने लैंड ओनर रहे जैन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके द्वारा प्लॉट बेचने के दौरान बड़ा धोखा किया गया है।

लोगों का कहना है कि प्लॉट विक्रेता के द्वारा उन्हें आश्वस्त किया गया था कि वह ड्रेनेज आदि की व्यवस्था बना कर देंगे। मगर अभी तक इस समस्या का कोई समाधान नहीं हो पाया है। अन्य सभी समस्याओं को सुनने के बाद बैठक में एक बड़ा निर्णय भी लिया गया। सोसायटी के प्रधान सुरेंद्र हिंदुस्तानी, महासचिव संजय ठाकुर, गीता राम, मीना नेगी, नरेंद्र मोहिल आदि ने कहा कि इस मुद्दे की प्रशासन को लिखित शिकायत सोमवार को सौंपी जाएगी। यही नहीं स्थानीय विधायक डॉ राजीव बिंदल और नगर परिषद के अधिकारी को भी इस बाबत शिकायत पत्र दिया जाएगा।

बावजूद इसके यदि 1 सप्ताह के भीतर उनकी समस्याओं का कोई स्थाई समाधान ना निकला तो कड़े फैसले लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके बाद यशवंत विहार कॉलोनी से नगर परिषद को किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं दिया जाएगा। यही नहीं इस पूरी जमीन के प्लॉट विक्रेता रहे जैन बंधुओं के तमाम वाहनों को यशवंत विहार कॉलोनी में प्रवेश भी नहीं करने दिया जाएगा। समिति की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि यदि समस्या का समाधान और जिन लोगों के घर गिरने की स्थिति में आ चुके हैं उसको लेकर भी यदि आश्वासन ना मिला तो आने वाले समय में पूरा यशवंत विहार चुनावों का बहिष्कार भी करेगा।

यहां यह भी बताना जरूरी है कि इस समय यशवंत विहार कॉलोनी में 1000 से भी अधिक लोग रह रहे हैं। वही प्रधान के द्वारा यह भी कहा गया कि यदि बरसाती पानी के निकासी को लेकर जल्द समस्या का समाधान ना हुआ तो सोसाइटी आपस में मिलकर सारा बरसाती पानी हॉस्टल की तरफ निकाल देंगे। जिसका जिम्मेदार यहां का लैंड ओनर जैन बंधु होंगे। इस बैठक में यशवंत विहार कॉलोनी के समस्त निवासी और पदाधिकारी मौजूद रहे।

मीटिंग पॉइंट रेस्टोरेंट्स में आयोजित हुई इस बैठक के बाद प्रधान सुरेंद्र हिंदुस्तानी की अगुवाई में बरसात से हो रहे नुकसान का स्पॉट निरीक्षण भी किया गया। जिसमें देवदत्त सैनी तथा विद्यालय शर्मा के मकान को अवैज्ञानिक ढंग से किए गए प्लाट कटिंग से पैदा हुए खतरे को लेकर चिंता व्यक्त की गई। जिसमें सोसायटी के प्रधान ने बरसात में सोसाइटी के अंदर प्लॉट कटिंग के निर्माण पर प्रतिबंध रखने की भी बात कही।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो