प्राचीन व ऐतिहासिक जयंती माता मंदिर में शुरू हुए पंच भीष्म मेले

पहले दिन 6000 श्रद्धालुओं ने नवाया शीश

HNN / कांगड़ा

हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा में पहाड़ी पर स्थित प्राचीन व ऐतिहासिक जयंती माता मंदिर में रविवार से पंच भीष्म मेले शुरू हो गए हैं। मेले के पहले दिन एसडीएम कांगड़ा अभिषेक वर्मा ने शिरकत की। उन्होंने अपने परिवार संग माता जयंती के चरणों में शीश नवाया और मेले का आगमन किया। बता दें कि पहले दिन तकरीबन 6000 श्रद्धालुओं ने मां के दरबार में हाजिरी भरी।

हालांकि मंदिर में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं बिना मास्क मंदिर में किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। वही आज दूसरे दिन सुबह 4:00 बजे से मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं और सुबह से ही मंदिर में श्रद्धालुओं का आना जारी है। जयंती माता मंदिर के पुजारी पंडित नरेश शर्मा ने बताया कि मेलों के दौरान पांच दीये मां के दरबार में पांच दिन तक अखंड जलेंगे।

पौराणिक कथाओं के अनुसार यहां पर पांडवों का कुछ समय वास रहा है। मान्यता यह भी है कि जिन बहनों ने राखी वाले दिन किसी कारणवश अपने भाई को राखी और भैयादूज पर तिलक न लगाया हो तो वे इन भीष्म पंचक मेलों में भाई के माथे पर तिलक लगाकर राखी बांध सकती हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो