फायर ब्रिगेड का अधिकारी रिश्वत लेते पकड़ा गया

HNN News / सोलन

फायर ब्रिगेड के अधिकारी को राज्य सतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने 30 हजार की रिश्वत लेते धरा। फायर ब्रिगेड के अधिकारी ने एक उद्योग में अग्निशमन उपकरण स्थापित करने के लिए एनओसी देने की एवज में रिश्वत की मांग की थी। जिसे विजिलेंस सोलन की टीम ने शनिवार को बद्दी के एक होटल से गिरफ्तार कर लिया।

विजिलेंस ने फायर ब्रिगेड अधिकारी से एक और कंपनी का एनवेल्प बरामद किया है, जिसमें 15 हजार नकदी पकड़ी है। विजिलेंस ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। इस कार्यवाही को डीएसपी विजिलेंस संतोष शर्मा की अगुवाई में अंजाम दिया गया। बताया जा रहा है

कि शिकायत मिलने के बाद शुक्रवार शाम ही विजिलेंस की टीम ने बद्दी में डेरा डाल लिया था और शनिवार शाम जैसे ही शिकायतकर्ता डील के मुताबिक दमकल केंद्र के पास निजी होटल में अग्निशमन अधिकारी को पैसे दे रहा था, उसी दौरान विजिलेंस ने उसे गिरफ्त कर लिया।फायर सर्विस बद्दी के संचालक गुरप्रीत सिंह सैनी ने शिकायत की थी कि अग्निशमन अधिकारी एनओसी देने के एवज में रिश्वत की मांग कर रहा है।

विजिलेंस की कार्यवाही में डीएसपी विजिलेंस संतोष शर्मा के साथ इंस्पेक्टर हंसराज, इंस्पेक्टर संदीप कुमार, इंस्पेक्टर तेज राम शर्मा, इंस्पेक्टर कमल शर्मा, इंस्पेक्टर संदीप शर्मा, इंस्पेक्टर अजय भारद्वाज, एचएचसी सुधीर व संजीव शामिल रहे। मामले कि पुष्टि करते हुए डीएसपी संतोष शर्मा ने बताया कि आरोपी अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है तथा कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है।

Test