फारेस्ट कांट्रेक्टर यूनियन की बैठक हुई सम्पन्न

कहा किसान के की भूमि से कम से कम 200 पेड़ वन मंडल अधिकारी को दे अनुमति सरकार

HNN News/ जमात अली कांगड़ा

हिमाचल प्रदेश फारेस्ट कॉन्ट्रैक्टर की बैठक बुधवार को किसान भवन रैहन में वन निगम के प्रदेशाध्यक्ष गगन पठानिया की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक दौरान किसानों व वन निगम के ठेकेदारों को आ रही परेशानियों से निजात पाने के लिए सरकार के समक्ष एजेंडा रखने पर सहमति बनी साथ ही कॉंट्रेक्टरों ने इंदौरा विधायक रीता धीमान से भी ठेकेदारों व किसानों की समस्याओं को शीतकालीन सत्र दौरान विधानसभा में रखने की गुहार लगाई।

बैठक में उपस्थित वन निगम व वन विभाग से सबंधित ठेकेदारों ने बताया कि वन मंडल अधिकारी को एक किसान की मलकीयती भूमि से 200 खैर के पेड़ कटवाने की अनुमति देने का अधिकार था। फिर 100 हुआ अब 49 पेड़ों से ज्यादा की अनुमति वन मंडल अधिकारी के पास न होने के चलते जहां ठेकेदारों को परेशानी झेलनी पड़ रही है तो वहीं किसान भी इस परेशानी से बाहर नहीं रह रहे हैं।

उन्होंने सरकार से आग्रह किया है कि वन मंडल अधिकारी को 200 खैर के पेड़ काटने की अनुमति देने का अधिकार दिया जाए। वहीं इस मौके पर प्राइवेट ठेकेदार यूनियन का गठन करते हुए हंस राज को प्रधान, उतम सिंह व सुरिंद्र सिंह को उपप्रधान, विरेन्द्र को सचिव ,सवरूप को सहसचिव, रुमेल ठाकुर को कोषाध्यक्ष व रछपाल सिंह को मुख्य सलाहकार बनाया गया।