फूड सेफ्टी विभाग के निरीक्षण के बाद हंड्रेड परसेंट सुरक्षित होगा मिल्कफेड का दूध

HNN/ नाहन

जिला सिरमौर खाद्य सुरक्षा विभाग त्योहारों के सीजन पर लोगों के स्वास्थ्य को लेकर लगातार निरीक्षण पर है। शनिवार 30 अक्टूबर को फूड सेफ्टी ऑफिसर सुनील शर्मा की टीम ने पांवटा साहिब और नाहन में मिठाइयों आदि की दुकानों की जांच करी। देर शाम निरीक्षण के बाद लौटी टीम प्रमुख ने जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार को नाहन मिल्कफेड चिलिंग प्लांट में निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि मिल्क प्लांट में गांव का शुद्ध दूध आता है।

बावजूद इसके लोगों को हाइजीनिक कीटाणु रहित शुद्ध दूध मिले इसको लेकर कुछ दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। सुनील शर्मा ने बताया कि दूध को किस तरीके से भंडारण करना है इसके अलावा सफाई आदि कैसे मेंटेन रखनी है इसको लेकर कुछ टेक्निकल जानकारियां दी गई। उन्होंने बताया कि फिलहाल मिल्कफेड के कर्मचारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके बाद भी समय-समय पर इस मिल्क चिलिंग प्लांट में निरीक्षण जारी रहेंगे।

उन्हें बताया कि इसकी मुख्य वजह मिल्कफेड के दूध पर लोगों की विश्वसनीयता बनी रहे यह सुनिश्चित किया जाएगा। वही फूड सेफ्टी टीम के द्वारा नाहन की सैन वाला पंचायत के अंतर्गत एक मिठाई की दुकान में औचक निरीक्षण किया गया। दुकान में मिठाई पर मक्खियां बैठी हुई थी जिसके चलते मिठाई को नष्ट करवा दिया गया। साथ ही फूड सेफ्टी ऑफिसर ने दुकानदार को हर खाद्य वस्तु को साफ कपड़े से ढकने के निर्देश भी दिए हैं।

वही सुनील शर्मा की टीम के द्वारा पांवटा साहिब के बांगरन चौक पर मिठाई की दुकान से कलाकंद तथा खोए से बनी मिठाइयों के सैंपल भी ले गए। फूड ऑफिसर सुनील शर्मा का कहना है कि त्योहारों के सीजन पर नकली मावे से मिठाई बनाने के ज्यादा मामले रहते हैं। लिहाजा मावा से बनी मिठाइयों को लोगों के स्वास्थ्य में सुरक्षा के मद्देनजर बराबर चेक किया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला सिरमौर खाद्य सुरक्षा विभाग त्योहार के सीजन में अभी तक कुल 28 सैंपल अलग-अलग जगह से उठा चुका है। इन सभी सैंपल को कंडाघाट लैब में भेजा गया है। रिपोर्ट के आने के बाद अंतर्गत फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट 2006 के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएंगी। वही जिला फूड ऑफिसर सुनील शर्मा ने दुकानदारों से अपील करते हुए कहा कि वह हाइजीन तथा सफाई आदि का पूरा ध्यान रखें।

यही नहीं उन्होंने साफ तौर पर चेतावनी जारी करते हुए कहा कि बांसी तथा मक्खियां आदि बैठी हुई मिठाई को यदि बेचने की कोशिश की जाती है तो कड़ी से कड़ी कार्रवाई भी अमल में लाई जा सकती है। इसके साथ उन्होंने मावे की खरीद को लेकर यह स्पष्ट कर दिया है कि लोगों की सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। शनिवार को लिए गए सैंपल्स के दौरान क्लास फोर प्रदीप तथा चालक प्रदीप शर्मा मुख्य रूप से मौजूद रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो