बंदरों के आतंक से किसान परेशान, छोड़ी खेती

HNN/ काँगड़ा

जिला के कई क्षेत्रों में बंदरों के आतंक से किसानों ने खेती से मुंह फेरना शुरू कर दिया है। जिले के कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां बंदरों की वजह से खेती प्रभावित हो रही है। नुक्सान की वजह से धीरे-धीरे किसान खेती का काम छोड़ दूसरा व्यवसाय शुरू कर रहे हैं। इस समस्या को लेकर कृषि विभाग चिंतित तो है, लेकिन बंदरों के आतंक से खेती को बचाने के लिए कुछ कर नहीं पा रहा है।

किसानों का कहना है कि अब वह खेतों में फसलें नहीं लगा सकते, क्योंकि बंदर उन्हें तबाह कर देते हैं। इसके साथ ही शहर में भी बंदरों ने आतंक मचा रखा है। लोग अपने ही घरों में खुद को सुरक्षित नहीं मान रहे हैं, क्योंकि बंदर किसी भी समय उन पर हमला बोल देते हैं। खासतौर पर शहर की गृहिणियों और बच्चे इनका शिकार बन रहे हैं।

बता दें कि तहसील डाडासीबा क्षेत्र नंगल चौक रोड़ी कोड़ी चनौर व तहसील रक्कड़ की ग्राम पंचायत पुनणी, कुड़ना-सलेटी सहित अन्य निकटवर्ती गांवों में बंदरों ने फसलों पर हमला किया हुआ है। खेतों में खड़ी मक्की की फसल के साथ-साथ फल-सब्जी को भी बंदर तहस-नहस कर रहे हैं।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो