बारिश न होने से गेहूं की फसल पर संकट, किसान चिंतित

HNN/ ऊना

बारिश न होने से गेहूं की फसल पर संकट के बादल मंडराने लग पड़े है। करीब दो महीने से बारिश न होने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ झलक रही हैं। बारिश न होने से गेहूं सहित अन्य फसल चौपट होने की कगार पर है। हालांकि, आसमान में छाए बादलों की आंख-मिचौनी से किसानों को बारिश होने की आस जगी है, तो वहीं बारिश न होने तथा खेतों में पर्याप्त नमी न होने के कारण गेहूं की फसल दम तोड़ रही है।

समय पर बारिश न होने के कारण खेत सूखे रहने से किसानों का चिंतित होना लाजिमी है। वहीं प्रदेश में अभी कुछ दिन तक मौसम साफ बना रहेगा जिससे बारिश के आसार न के बराबर है। बता दें कि जिला ऊना में बारिश न होने से गेहूं की फसल को नुक्सान पहुंच रहा है।

जिले में 3870 हेक्टेयर में गेहूं की बिजाई की गई है। इसमें 25 प्रतिशत क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा है, जबकि बाकी क्षेत्र के किसान फसलें उगाने के लिए केवल बारिशों के पानी पर ही निर्भर है। परंतु दिसंबर माह में जिला में बारिश नहीं हुई है जिससे गेहूं की फसल बर्बाद होने के कगार पर खड़ी है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो