बाहर से आए कामगारों की टेस्टिंग व वैक्सीनेशन को लेकर उपायुक्त ने दिए यह निर्देश, कहा…

HNN / लाहौल- स्पीति

 प्रदेश में एक बार फिर से कोरोना के मामले आने के दृष्टिगत उपायुक्त लाहौल- स्पीति नीरज कुमार ने निर्देश देते हुए कहा है कि स्वास्थ्य विभाग टेस्टिंग और वैक्सीनेशन के कार्य को और प्रभावी बनाए। टेस्टिंग के बाद ट्रैकिंग को भी पुख्ता करें ताकि संक्रमण को फैलने की कड़ी पर अंकुश रहे। उन्होंने कहा कि कार्य योजना के तहत लाहौल-स्पीति में बाहर से आने वाले कामगारों की पंचायत वार सूची तैयार की जाए। उन्होंने संबंधित एसडीएम को भी निर्देश दिए हैं कि ठेकेदारों के साथ बैठक करके इस सुनिश्चित किया जाए कि नए दिशा- निर्देशों के अनुरूप सभी कामगारों की टेस्टिंग और वैक्सीनेशन के काम को अंजाम दें।

  कोरोना टेस्टिंग में पॉजिटिव पाए जाने पर कामगारों को ग्राम स्तर पर गठित टास्क फोर्स के माध्यम से क्वॉरेंटाइन की व्यवस्था भी रहेगी ताकि संक्रमण की श्रृंखला को थोड़ा जा सके। उपायुक्त ने स्थानीय लोगों से भी आग्रह किया है कि वे कोरोना संक्रमण के प्रति पूरी तरह से सचत और गंभीर रहें और सभी एहतियातों का पालन करें। उपायुक्त ने जिला के सभी महिला मंडल और युवक मंडल का आह्वान करते हुए कहा कि यदि उनके क्षेत्र में बाहरी व्यक्ति दिखाई देते हैं तो उसकी सूचना स्थानीय प्रशासन या पुलिस को दें ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उन लोगों की टेस्टिंग हुई है अथवा नहीं। 

उन्होंने कहा कि पुलिस को भी ये निर्देश दिए गए हैं कि सार्वजनिक जगहों पर जो व्यक्ति मास्क नहीं पहन रहे उनके चालान किए जाएं।उपायुक्त ने कहा कि परिवहन निगम और निजी बसों में सफर करने वाले यात्रियों द्वारा मास्क पहना हो, इसको निगम के अधिकारी और निजी बस संचालक सुनिश्चित करें।
पुलिस भी इसको लेकर औचक निरीक्षण करके निर्देशानुसार कार्रवाई करे। उपायुक्त ने यह भी कहा कि सार्वजनिक जगह, सार्वजनिक परिवहन, बस स्टैंड, बाजार या किसी कार्यक्रम में लोग मास्क पहनने, हाथ धोने और शारीरिक दूरी रखने जैसी एहतियातों को नहीं बरतेंगे तो कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बरकरार रहेगा।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो