बिग ब्रेकिंग/ हिमाचल प्रदेश के बैरियर की नीलामी 1 महीने के लिए एक्सटेंड

नगर परिषद नाहन
सार्वजनिक सूचना

सर्वसाधारण को एतत् द्वारा सूचित किया जाता है कि नगर परिषद नाहन में सीएलसी के माध्यम से 50 सफाई कर्मचारियों की सफाई कार्य के लिए आवश्यकता है। जो भी व्यक्ति जिसकी आयु 18 वर्ष से अधिक हो और नगर परिषद क्षेत्र नाहन में सफाई का कार्य करने का इच्छुक हो वह सीएलसी नाहन में निर्धारित फीस 150, आधार कार्ड फोटो, बैंक खाता और निवास का प्रमाण पत्र देकर अपना नाम दर्ज़ करवा सकता है। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित दैनिक दरों के आधार पर वेतन दिया जाएगा।

सचिव सीएलसी (शहरी आजीविका केंद्र) नगर परिषद नाहन जिला सिरमौर (हिमाचल प्रदेश)
कार्यकारी अधिकारी एवं अध्यक्ष सीएलसी (शहरी आजीविका केंद्र) नगर परिषद नाहन जिला सिरमौर (हिमाचल प्रदेश)

बैरियर होल्डर की नहीं हुई सहमति, तो विभाग खुद चलाएगा 1 महीने तक बैरियर

HNN / शिमला

सरकार के द्वारा लिए गए निर्णय के बाद हिमाचल प्रदेश राज्य कर एवं आबकारी विभाग ने प्रदेश के एंट्री बैरियर्स की नीलामी को 1 महीने के लिए एक्सटेंड कर दिया है। विभाग के द्वारा एक माह की एक्सटेंशन को बैरियर होल्डर स्वीकार करने की स्थिति में नहीं है। लिहाजा आज रात को 12:00 बजे के बाद कुछ बैरियर होल्डर अपने हाथ खड़े कर देंगे। तो वही राज्य कर एवं आबकारी विभाग के आयुक्त के द्वारा बैरियर होल्डर की समस्या का समाधान भी किया गया है।

मगर बैरियर होल्डर का कहना है कि जो निर्णय जिला उप आयुक्तों के द्वारा उन्हें बताया गया है वह स्पष्ट नहीं है। इस बाबत राज्य कर एवं आबकारी विभाग के आयुक्त रोहन ठाकुर ने बताया कि कोविड कर्फ्यू के चलते सरकार ने एंट्री बैरियर की नीलामी को 1 महीने के लिए एक्सटेंड कर दिया है। उन्होंने बताया कि सरकार नीलामी को लेकर 1 जुलाई के बाद निर्णय लेगी। उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि यह एक्सटेंशन पुराने रेट पर ही दी गई है।

तो वही बैरियर होल्डर्स का कहना है कि पंजाब, हरियाणा, यूपी कोरोना कर्फ्यू के चलते बंद पड़ा है। ऐसे में उन्हें पुराने रेट पर बैरियर चला पाना मुश्किल हो रहा है। जिस पर विभाग ने उन बैरियर को 33 प्रतिशत के लगभग रिलीफ दिलाने का भी वायदा किया है जिनकी ऑक्शन लॉकडाउन से पहले यानी बीते वर्ष फरवरी में हुई थी। इसका प्रपोजल बनाकर विभाग ने सरकार के समक्ष भी रखा है ताकि इस पर निर्णय कैबिनेट में लिया जा सके, यानी अभी 33 प्रतिशत रिलीफ पर स्थिति क्लियर नहीं है।

मगर विभाग ने यह आश्वासन दे दिया है कि जो जून महीने की किस्त दी जाएगी उसको 33 प्रतिशत डाउन कर दिया जाएगा। तो वही यह भी बताना जरूरी है कि लॉकडाउन से पहले और बाद में बैरियर्स पर दो तरह की स्थिति आई थी। इनमें कुछ ऐसे बैरियर है जिनकी ऑक्शन लॉकडाउन के दौरान यानी मई महीने में हुई थी।
लॉकडाउन में ट्रैफिक की स्थिति को देखते हुए विभाग ने जो रिजर्व प्राइस रखी थी उससे 42 प्रतिशत रेट डाउन मे नीलामी हुई थी। बैरियर होल्डर्स ने विभाग को यह भी जानकारी दी थी कि बैरियर पर ट्रैफिक 33 प्रतिशत डाउन जा रहा है।

तो वहीं अब विभाग के द्वारा इन्हीं के द्वारा दिए गए फिगर के हिसाब से सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा गया था। लिहाजा सरकार के द्वारा राजस्व घाटा ज्यादा बड़ा ना हो इसको लेकर बैरियर की नीलामी को 1 महीने के लिए एक्सटेंड कर दिया गया है। असल में विभाग ने भी इसलिए निर्णय लिया क्योंकि फिलहाल अभी अनलॉक प्रक्रिया पहले चरण में है। ऐसे में 11 बैरियर में से 4-5 ऐसे बैरियर होल्डर भी है जिन्होंने कहा है कि वह आज रात के 12 बैरियर छोड़ देंगे।

इस पर आयुक्त के द्वारा संबंधित जिला के अधिकारी को यह आदेश दिए गए हैं कि वह विभागीय तौर पर 1 महीने के लिए खुद बैरियर संभालेंगे। उधर, राज्य कर एवं आबकारी विभाग के आयुक्त रोहन ठाकुर ने खबर की पुष्टि की है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो