बिना चेक किए हार्ट अटैक को अस्थमा अटैक बता आईजीएमसी रैफर कर दिया मरीज

HNN News/ शिमला

मरीजों को बिना चेक किए ही रैफर कर दिया जा रहा है। डॉक्टरों पर काम का बोझ बढ़ने का बहाना बनाकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। ऐसा ही मामला शिमला के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (रिपन) में सामने आया है। बीते 23 दिसंबर को यहां के इमरजेंसी वार्ड में लाए गए हार्टअटैक के मरीज को अस्थमा का रोगी बताकर आईजीएमसी रैफर कर दिया गया।

आईजीएमसी में जब मरीज की जांच की गई तो उसे हार्ट अटैक निकला। इसके बाद उसका उपचार शुरू कर ऑपरेशन किया गया। अब मरीज की हालत स्थिर बताई जा रही है। शिमला के रामबाजार निवासी जय श्रीधर की तबीयत खराब होने पर परिजन उन्हें रिपन अस्पताल की इमरजेंसी में लाए थे, लेकिन उन्हें अस्थमा का अटैक बताकर आईजीएमसी रैफर कर दिया था।

उधर शिमला शहरी कांग्रेस के पूर्व महासचिव संजीव कुठियाला अस्पताल के मेडिकल सुपरिंडेंट से मिले और इस मामले की शिकायत की। रिपन अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. लोकेंद्र शर्मा ने कहा कि इस तरह का मामला ध्यान में आया है। मरीज को रैफर क्यों किया गया, इसकी जांच की जाएगी।

Test