बेसहारा पशुओं के आतंक से किसानों ने छोड़ी खेती-बाड़ी

HNN/ हमीरपुर

जिला हमीरपुर में बेसहारा पशुओं की मौजूदगी से कुछ इलाकों में किसानों ने खेतीबाड़ी छोड़ दी है। स्थिति यह है कि तीन सौ कनाल से अधिक भूमि बंजर हो गई है। भोरंज उपमंडल के तहत आने वाली जाहू पंचायत में किसान बेसहारा पशुओं के आतंक से खासे परेशान है। यहां के किसान खेती बाड़ी कर के ही अपने और अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं परंतु बेसहारा पशु फसलों को चट कर जाते हैं जिसके चलते किसानों ने खेती करना ही छोड़ दिया है।

हालांकि किसानों ने अपनी फसलों को बेसहारा पशुओं और अन्य जानवरों से बचाने के लिए लोहे के एंगल से कांटेदार तारे भी खेतों के इर्द-गिर्द लगा रखी है बावजूद इसके रात के समय यह बेसहारा पशु खेतों में घुसकर फसलों को तहस-नहस कर रहे हैं। जाहू तीन जिलों का संगम स्थल होने से चारों ओर से लोग रात के समय पशुओं को बेसहारा छोड़ रहे हैं।

बेसहारा पशुओं के आतंक के चलते अब यहां के किसानों ने खेती बाड़ी करना ही छोड़ दिया है। किसानों का कहना है कि वह बेसहारा पशुओं से परेशान हैं। ये पशु लोगों की जान के दुश्मन भी बने हुए हैं। अधिकांश किसानों ने अपने स्तर पर कंटीली तार से बाड़बदी की है। इसके बावजूद पशु फसल को काफी नुक्सान पहुंचा रहे है नतीजा यह कि उन्होंने खेती कारण ही छोड़ दिया है।

लेटेस्ट न्यूज़ एवम अपडेट्स अपने व्हाटसऐप पर पाने के लिए हमारी व्हाटसऐप बुलेटिन सर्विस को सब्सक्राइब करें। सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें।

वीडियो