बैजनाथ में हुई ओलावृष्टि, फसलों को पहुंचा भारी नुक्सान

HNN News/ कांगड़ा

जिला कांगड़ा के अधिकतर क्षेत्रों में बारिश व ओलाववृष्टि हुई है। बैजनाथ क्षेत्र में ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान की सूचना है। खासतौर पर पक कर खेतों में खड़ी धान की फसल को भारी नुकसान हुआ है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के विशेषज्ञों ने आज प्रदेश के कुछ स्थानों में बारिश की संभावना जताई थी। प्रदेश में 10 अक्टूबर से मौसम साफ रहने के आसार हैं। शिमला, कुल्‍लू, मंडी व कांगड़ा के कुछ इलाकों में बारिश हुई है। चोटियों पर बर्फबारी भी हाे रही है।

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के कारण सुबह व शाम मौसम ठंडा होता जा रहा है। बारिश से किसानों की चिंता जरूर बढ़ा दी है। मक्‍की के बाद धान की फसल को बटोरना भी मुश्किल हो गया है। लगातार बारिश का दौर जारी रहने से किसान चिंतित हैं। हालांकि मौसम केंद्र के वैज्ञानिक आगामी दिनों से मौसम साफ रहने की बात कही जा रही है, ऐसे में किसानों को जरूर राहत मिल सकती है।

मंगलवार को विजयदशमी पर शिमला में एक मिलीमीटर बारिश हुई। शाम चार बजे बारिश शुरू हो गई। इस कारण कई जगह दशहरे के अवसर पर बनाए गए पुतले गीले हो गए। प्रदेश में तापमान में ज्यादा अंतर नहीं आया है। मंगलवार को कुछ क्षेत्रों में अधिकतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस तक की वृद्धि दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को प्रदेश के मध्य व ऊंचे पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। प्रदेश में मंगलवार को सबसे अधिक तापमान ऊना में 32.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।